शिमला जिले में 345 का टीकाकरण

शिमला जिले में 345 का टीकाकरण

जिले के आठ केंद्रों में शुक्रवार को 345 स्वास्थ्य कर्मचारियों को को

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 05:02 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, शिमला : जिले के आठ केंद्रों में शुक्रवार को 345 स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। आइजीएमसी कोविड अस्पताल, आइजीएमसी न्यू ओपीडी ब्लॉक, रिपन अस्पताल, दंत महाविद्यालय शिमला, खनेरी अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मशोबरा व रोहडू में कोरोना वैक्सीन लगाई गई। स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीन लगाने के लिए 728 स्वास्थ्य कर्मचारियों को मैसेज भेजे गए थे लेकिन इनमें अधिकांश कर्मचारी नहीं पहुंचे। दंत महाविद्यालय शिमला में 100 में से 64 लोग पहुंचे। रिपन अस्पताल में भी 100 में से 34 लोग ही वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे। जिले में अब सफाई कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने डाटा एकत्रित करना शुरू कर दिया है।

जिले में 728 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा था। सबको फोन पर मैसेज भेजे गए थे। शुक्रवार को 345 लोग ही कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे।

-डा. सुरेखा चोपड़ा, सीएमओ शिमला

----------

बीबीएन में 42 को लगी वैक्सीन, 26 ने किया इन्कार

संवाद सूत्र, नालागढ़ : औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन के तहत सीएचसी नालागढ़ व ईएसआइ काठा में 42 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। 26 लोगों ने वैक्सीन लगाने से इन्कार किया और 55 अनुपस्थित रहे। प्रथम चरण के दूसरे टीकाकरण में नालागढ़ अस्पताल व ईएसआइ काठा में टीकाकरण हुआ। नालागढ़ अस्पताल में 52 में से 22 को टीका लगा। 21 लोगों ने टीका लगाने से इन्कार किया और नौ लोग अनुपस्थित रहे। ईएसआई काठा में 71 में से 20 लोगों को टीका लगा। पांच ने लोगों ने टीका लगाने से इन्कार किया और 46 अनुपस्थित रहे। बीएमओ नालागढ़ डा. केडी जस्सल ने कहा कि टीकाकरण से कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.