VK Singh in Manali : निर्माणाधीन सड़क परियोजनाओं को तय समय के भीतर पूरा करें : वीके सिंह

VK Singh in Manali जिन सड़क परियोजनाओं के निर्माण कार्य जारी हैं उन्हें तय समय के भीतर पूरा करें। इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जाने चाहिए। यह बात केंद्रीय सड़क परिवहन राष्ट्रीय राजमार्ग एवं नागरिक उड्डयन राज्‍यमंत्री सेवानिवृत्त जनरल वीके सिंह ने अधिकारियों से कही।

Virender KumarSun, 28 Nov 2021 08:11 PM (IST)
वीके सिंह ने कहा कि निर्माणाधीन सड़क परियोजनाओं को तय समय के भीतर पूरा करें। जागरण

मनाली, जागरण संवाददाता। VK Singh in Manali, जिन सड़क परियोजनाओं के निर्माण कार्य जारी हैं उन्हें तय समय के भीतर पूरा करें। इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जाने चाहिए। यह बात केंद्रीय सड़क परिवहन, राष्ट्रीय राजमार्ग एवं नागरिक उड्डयन राज्‍यमंत्री सेवानिवृत्त जनरल वीके सिंह ने अधिकारियों से कही।

रविवार को वह मनाली विधानसभा क्षेत्र के बड़ागढ़ में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, सीमा सड़क संगठन, सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय तथा राज्य लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ हिमाचल में निर्माणाधीन सड़क परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे।

केंद्रीय राज्‍यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि जिन सड़क परियोजनाओं के लिए राशि स्वीकृत की गई है उनके निर्माण की प्रक्रिया में तेजी लाकर शीघ्र कार्य आरंभ किया जाना चाहिए। प्रथम चरण की औपचारिकता के उपरांत तुरंत सर्वोच्च न्यायालय की अनुमति के लिए आवेदन करें, ताकि अनावश्यक तौर पर कोई भी परियोजना के निर्माण में विलंब की स्थिति न उत्पन्न हो। सड़क परियोजना की डीपीआर बनाते समय भूमि अधिग्रहण के मामलों को बारीकी से देखें। विशेषकर निर्मित भवनों एवं बस्तियों के मामलों को संवेदनशीलता के साथ सुलझाएं। किसी बड़ी एवं महत्वपूर्ण सड़क कूहल अथवा टनल जैसी परियोजनाओं की और आवश्यकता हो तो इस संदर्भ में व्यवहार्यता को अच्छे से समझकर मामला फंडिंग के लिए मंत्रालय को प्रेषित करें।

बैठक में सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय के विशेष सचिव व महानिदेशक आइके पांडे, मंत्री के अतिरिक्त निजी सचिव एमएल सेठी, सड़क सीमा संगठन के अतिरिक्त महानिदेशक हरेंद्र कुमार, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय अधिकारी अब्दुल बासित, उपायुक्त आशुतोष गर्ग, पुलिस अधीक्षक गुरुदेव शर्मा, सहित अन्य अधिकारी ने उपस्थित रहे।

वन भूमि की मंजूरी सड़क निर्माण में बाधक

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण मुख्यालय के क्षेत्रीय अधिकारी अब्दुल बासित ने बताया कि प्रदेश की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए यहां पर डंपिंग साइट की काफी दिक्कत रहती है और वन भूमि की क्लीयरेंस करवाना भी टेढ़ी खीर है। इसके कारण सड़क परियोजनाओं के निर्माण में देरी होना स्वाभाविक है। प्रदेश में 786 किलोमीटर लंबी सड़क परियोजनाओं के निर्माण का कार्य है जिनमें 192 किलोमीटर परवाणू-शिमला, 236 किलोमीटर कीरतपुर-मंडी-कुल्लू-मनाली, शिमला से मटौर के कार्य का अवार्ड कर दिया गया है।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के पास 700 किलोमीटर लंबी सड़कों का कार्य

सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग के क्षेत्रीय अधिकारी वरुण अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में 2592 किलोमीटर लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग हैं जिनमें से राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के पास 700 किलोमीटर लंबी सड़कों का कार्य है। 155 किलोमीटर लंबी फोरलेन सड़कों का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। 34 किलोमीटर डबललेन की लंबाई पूरी कर ली गई है। 85 किलोमीटर लंबी सड़कों का निर्माण किया गया और चालू वित्त वर्ष के दौरान 194 किलोमीटर लंबी परियोजनाओं को पूरा करने का लक्ष्य है। आठ परियोजनाओं में से चार सड़कों की निविदाएं आमंत्रित करना शेष है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.