पीपीई किट के भ्रम में सहमे लोग, खेतों में जाने से किया किनारा, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने की जांच

मैहतपुर के साथ लगते गांव रायपुर सहोड में खेतों में अल सुबह सफेद रंग के कपड़ों जैसी वस्‍तु देखकर लोग घबरा गए। लोगों को भ्रम हुआ कि ये प्रयोग की हुई पीपीई किट हैं। एक पेड़ के नीचे सफेद रंग के कपड़ो का कचरा देखकर लोग दहशत में आ गए

Rajesh Kumar SharmaTue, 22 Jun 2021 11:09 AM (IST)
रायपुर सहोड़ा में पेड़ के नीचे सफेद रंग के कपड़ो का कचरा देखकर लोग दहशत में आ गए

मैहतपुर, संवाद सहयोगी। मैहतपुर के साथ लगते गांव रायपुर सहोड में खेतों में अल सुबह सफेद रंग के कपड़ों जैसी वस्‍तु देखकर लोग घबरा गए। लोगों को भ्रम हुआ कि ये प्रयोग की हुई पीपीई किट हैं। मैहतपुर संतोषगढ़ मार्ग के रायपुर सहोडा के बोटलिंग प्लांट से कुछ ही दूरी के पास एक शीशम के पेड़ के नीचे सफेद रंग के कपड़ो का कचरा देखकर लोग दहशत में आ गए और इसकी सूचना विभाग को दी गई। पीपीई किट का नाम सुनते ही विभाग के हाथ पांव फूल गए और आनन फानन में एक टीम ने उस स्थल का दौरा किया जहां पर ये वेस्ट पड़ा हुआ था।

टीम ने मौके पर मुआयना किया तो पाया कि दूर से ये ऐसा जरूर दिख रहा था जैसे कि पीपीई किट हो लेकिन ये फेविकोल का वेस्ट था जो जहां पर फेंका गया है। हालांकि इस तरह से किसी भी तरह का वेस्ट फेंकना कानूनन दृष्टि से गलत है। लेकिन सफेद रंग का कचरा होने से लोगों में इस बात को लेकर दहशत हो गई कि ये पीपीई किट है।

ज़िलाधीश ऊना राघव शर्मा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया की स्थानीय पंचायत और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर जाकर मुआयना किया तो पाया कि ये पीपीई किट नहीं थीं, बल्कि फेविकोल का वेस्ट थाा। पीपीई किट का भ्रम होने के कारण कोई भी पास नहीं जा रहा था।

रात के अंधेरे में किसी गाड़ी की मदद से इस पदार्थ को यहां फेंका गया है, क्योंकि ग्रामीणों ने उस स्थान पर एक गाड़ी के टायर के निशान भी देखे हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्‍सीन के साथ एहतियात भी जरूरी, जानिए विशेषज्ञों की सलाह

पीपीई किट के भ्रम में स्‍थानीय लोगों में दहशत का माहौल बन गया था। लोगों को क्षेत्र में वायरस फैलने का डर सताने लगा था। लेकिन विभाग ने सभी किंतु स्‍पष्‍ट कर दिए हैं। बीएमओ मैहतपुर बलराम धीमान ने कहा जांच में ये पीपीई किट नहीं पाई गई हैं।

यह भी पढ़ें: Himachal Cabinet Meeting: मंदिर खोलने की तैयारी, बाजार खुलने की अवधि बढ़ाने सहित हो सकते हैं ये फैसले

यह भी पढ़ें: हिमाचल में बंदिशें कम होने पर लापरवाह हुए लोग, पुलिस ने रिकॉर्ड 16 हजार लोगों के चालान किए, पढ़ें खबर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.