अटल टनल में सेल्फी न ले पाने से मायूस हो रहे सैलानी, धारा 144 के कारण नियम कड़े, सेल्‍फी प्‍वाइंट की मांग उठाई

अटल टनल में धारा 144 के चलते पर्यटक फोटोग्राफी नहीं कर पा रहे हैं।
Publish Date:Tue, 20 Oct 2020 10:43 AM (IST) Author: Rajesh Sharma

मनाली, जागरण संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अटल टनल के लोकार्पण का देशभर में सीधा प्रसारण होने के बाद पर्यटकों में टनल के दीदार करने की होड़ मच गई है। पर्यटक अटक टनल तो निहार रहे हैं, लेकिन अपने इन लम्हों को कैमरे में कैद नहीं कर पा रहे हैं। टनल के लोकार्पण के बाद पर्यटकों द्वारा टनल के अंदर हुड़दंग मचाने व चीन द्वारा टनल को ध्वस्त करने की धमकी देने के बाद प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है। इदस कारण टनल के बाहर 200 मीटर तक किसी को भी रुकने की अनुमति नहीं है। धारा 144 के चलते पर्यटक फोटोग्राफी नहीं कर पा रहे हैं। प्रदेश सरकार ने अटल टनल को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की बात कही है। लेकिन इस दिशा में सरकार की ओर से अभी कोई कदम नहीं उठाया गया है।

अटल टनल निहारने दिल्ली से मनाली पहुंचे पर्यटक इशांत व मनीष ने बताया फोटोग्राफी की अनुमति नहीं मिलने से वह अटल टनल के पलों को यादगार नहीं बना पाए। उन्होंने कहा अटल टनल के भीतर किसी को भी सेल्फी या वाहन रोकने की अनुमति नहीं होनी चाहिए लेकिन अटल टनल के साउथ व नार्थ पोर्टल में पार्किंग की व्यवस्था कर फोटोग्राफी के लिए सेल्फी प्वाइंट बनाया जाए, ताकि पर्यटक अपने इन लम्हों को कैमरे में कैद कर यादगार बना पाएं।

चंडीगढ़ से मनाली आए हरप्रीत व मनोज ने बताया टनल बहुत ही खूबसूरत है और टनल के पार करते ही अदभुत घाटी लाहुल स्पीति के दीदार हुए जो और अधिक खूबसूरत है। उन्होंने भी आग्रह किया कि नार्थ व साउथ पोर्टल में सेल्फी प्वाइंट बनाया जाए, ताकि पर्यटक आराम से सेल्फी ले सकें। तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. रामलाल मार्केंडय ने कहा प्रदेश सरकार सिस्सु पर्यटन स्थल को प्राथमिकता से विकसित कर रही है। उन्होंने बताया सरकार अटल टनल के दोनों पोर्टल को भी पर्यटकों के लिए विकसित करेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.