चंबा व हमीरपुर अस्पतालों में नहीं रहेगी आक्सीजन की कमी

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का फाइल फोटो। जागरण आर्काइव

हमीरपुर व चंबा स्थित अस्पताओं में आक्सीजन प्लांट में उत्पादन शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वर्चुअल माध्मय से चंबा के पंडित जवाहर लाल नेहरू राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय और हमीरपुर में डॉ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय में आक्सीजन प्लांट का लोकार्पण किया।

Vijay BhushanSun, 09 May 2021 05:37 PM (IST)

शिमला, राज्य ब्यूरो। हमीरपुर व चंबा स्थित अस्पताओं में कोरोना संक्रमित मरीजों की सांसें नहीं टूटेंगी। दोनों जगह आक्सीजन प्लांट में उत्पादन शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ओक ओवर से वर्चुअल माध्मय से चंबा के पंडित जवाहर लाल नेहरू राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय और हमीरपुर में डॉ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय स्थापित हुए आक्सीजन प्लांट का लोकार्पण किया। चंबा में 400 पीएलएम और हमीरपुर में 300 पीएलएम क्षमता के आक्सीजन प्लांट शुरू हुए। दोनों अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों को लगातार आक्सीजन मिलती रहेगी। डॉ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यलय हमीरपुर में एक करोड़ रुपये की लागत से निर्मित प्लांट 30 बिस्तरों वाले समर्पित कोविड वार्ड में आक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करेगा। यह वार्ड तीन माह के रिकार्ड समय में स्थापित किया गया है। मरीजों को निर्बाध आक्सीजन आपूर्ति प्रदान करने के लिए इसे 300 एलपीएम पीएसए प्लांट से जोड़ा गया है। सभी 30 कोविड बिस्तरों में आक्सीजन की सुविधा प्रदान की गई है और बीमार मरीजों के लिए 20 वेंटीलेटर स्थापित किए गए हैं। इस वार्ड में छह आईसीयू बिस्तर, चार एचडीयू बिस्तर, एक आप्रेशन थियेटर, लेबर रूम और 20 आक्सीजनयुक्त बिस्तर होंगे जो 24 घंटे कोरोना के मरीजों को सघन देखभाल सेवाएं प्रदान करेंगे।

चंबा का आक्सीजन प्लांट जिला चंबा के लोगों को सुविधा प्रदान करने में सहायक सिद्ध होगा। अभी तक चिकित्सा आपातकाल के दौरान मंडी से आक्सीजन सिलेंडर लाने में दो दिन का समय लगता था। उन्होंने कहा कि यह संयंत्र मरीजों को 24 घंटे आक्सीजन उपलब्ध करवाएगा। हमीरपुर के विधायक नरेंद्र ठाकुर और चंबा के विधायक पवन नैयर ने आक्सीजन प्लांट समर्पित करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

13 आक्सीजन प्लांट दिए

राज्य में आक्सीजन की कमी न हो, इसके लिए केंद्र सरकार से आक्सीजन का कोटा पंद्रह मीट्रिक टन से बढ़ाकर तीस मीट्रिक टन करने का मामला उठाया है। केंद्र सरकार ने पहले ही प्रदेश को तेरह आक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए हैं। सात आक्सीजन प्लांट में से छह धर्मशाला, मंडी, शिमला, चंबा, हमीरपुर, नाहन में स्थापित होंगे। इसके अतिरिक्त टांडा मेडिकल कॉलेज में शीघ्र ही आक्सीजन प्लांट स्थापित हो जाएगा।

इन छह अस्पतालों में स्थापित होंगे प्लांट

हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा राज्य के लिए स्वीकृत छह आक्सीजन प्लांट जिला कांगड़ा के नागरिक अस्पताल पालमपुर, जोनल अस्पताल मंडी, जिला शिमला के नागरिक अस्पताल रोहडू और नागरिक अस्पताल खनेरी, जिला सिरमौर में डॉ. यशवंत ङ्क्षसह परमार राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय और क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में स्थापित किए जाएंगे।

आक्सीजन सिलेंडर देने का मामला उठाया

प्रदेश सरकार ने राज्य के लिए पांच हजार डी-टाइप और तीन हजार बी-टाइप के आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाने का मामला केंद्र सरकार के समक्ष रखा है। ताकि प्रदेश में आक्सीजन की बढ़ती मांग को पूरा किया जा सके।

 

अनुराग को सराहा

वित्त एवं कॉरपोरेट मामले राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 मरीजों को आक्सीजन की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदमों की सराहना की। केंद्र सरकार इस महामारी से लडऩे के लिए राज्य सरकार को हरसंभव सहायता प्रदान कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.