उमस भरी गर्मी ने सुबह ही छुड़ाए पसीने, पर्यटन नगरी धर्मशाला में भी नारियल पानी की डिमांड बढ़ी

Himachal Weather Update पहाड़ों की तपिश बढ़ते तापमान के साथ बढ़ रही है। बुधवार को धूप व बादलों के बीच गर्मी ने लोगों को खूब परेशान किया। जहां तापमान बढ़ने के कारण हर कोई परेशान हो रहा है। पंखे की हवा भी राहत नहीं दे पा रही है।

Rajesh Kumar SharmaWed, 09 Jun 2021 11:58 AM (IST)
धर्मशाला शहर में लोग गर्मी से राहत पाने के लिए नारियल पानी का सहारा ले रहे हैं।

धर्मशाला, नीरज व्यास। पहाड़ों की तपिश बढ़ते तापमान के साथ बढ़ रही है। बुधवार को धूप व बादलों के बीच गर्मी ने लोगों को खूब परेशान किया। जहां तापमान बढ़ने के कारण हर कोई परेशान हो रहा है। पंखे की हवा भी राहत नहीं दे पा रही है। उमस ने सुबह ही अपना असर दिखाना शुरू कर दिया। पर्यटन स्‍थल धर्मशाला में तापमान लगातार बढ़ रहा है। प्रदेश के अधिकतर इलाकों में बादल छाए हुए हैं, अगर आज बारिश हो जाती है तो लोगों को बारिश से राहत मिलेगी। लेकिन मौसम विभाग के मुताबिक अभी गर्मी का यह प्रकोप 24 से 28 घंटे और झेलना पड़ेगा। प्रदेश में 11 जून से प्री मानसून पहुंचने की संभावना है।

जिला कांगड़ा में पारा 35 डिग्री से ऊपर पहुंच गया है। हालांकि धर्मशाला में 30 से 34 डिग्री सेल्सियस के बीच तापमान रह रहा है। धर्मशाला शहर में लोग गर्मी से राहत पाने के लिए नारियल पानी का सहारा ले रहे हैं। शहर में भी नारियल पानी खूब बिक रहा है।

बढ़ती गर्मी ने ठप पड़े नारियल पानी बेचने वालों का कारोबार बढ़ा दिया है। नारियल पानी बेचने वाले धर्मशाला सहित जिला कांगड़ा में अलग-अलग स्थानों पर अपनी दुकानदारी सजाए बैठे हैं। पहले बारिश के चलते यह कारोबार मंदा हो गया था। लेकिन एकाएक बदले मौसम के रुख के बाद गर्मी बढ़ते ही लोग कर्फ्यू ढील के वक्त नारियल बेचने वालों के पास जाकर नारियल पानी का लुत्‍फ ले रहे हैं।

धर्मशाला चारान खड्ड के पास नारियल पानी बेच रहे व्यक्ति ने बताया कि वह साठ रुपये का एक नारियल बेच रहा हैं। पहले मौसम खराब हुआ था तो उन्हे 40 रुपये में भी इसे बेचना पड़ा था, अब जब गर्मी बढ़ी है तो यह काम अच्छा हो रहा है। अभी जीप भरकर नारियल पानी लेकर आए हैं, कर्फ्यू ढील अवधि में इसे बेचेंगे। अभी जब समय और खुल जाएगा तो कारोबार के लिए और अच्छा होगा। अभी दो बजे तक ही दुकान चला पा रहे हैं। वहीं नारियल पानी बेच रहे व्यक्ति की दुकान के पास खड़े नरेश कुमार ने बताया कि नारियल पानी पीकर गर्मी से कुछ राहत मिल रही है।

किसान भी देख रहे बादलों व बारिश की राह

अपने खेतों को धान के लिए तैयार करने में जुटे किसान भी बादलों व बारिश की राह देख रहे हैं। अगर दो दिन में बारिश हो जाती है तो ऐसे स्थान जहां पर धान की फसल लगाने की तैयारी नहीं हो सकी है वह किसान भी अपने खेतों को धान लगाने के लिए तैयार कर सकेंगे। लेकिन पड़ती गर्मी के कारण किसान भी दिन भर अपना काम नहीं कर पा रहे हैं। गर्मी से बचने के लिए किसान भी सुबह व शाम के वक्त ही अपना काम कर रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.