Shimla Ice Skating Rink: आइस स्केटिंग रिंक तैयार, अब छिड़काव का इंतजार, जानिए किस तरह जमाई जाती है बर्फ

राजधानी शिमला में नवंबर के अंतिम सप्ताह से शुरू होने जा रही आइस स्केटिंग के लिए आयोजकों ने तैयारी तेज कर दी है। मंगलवार को मैदान ठीक करने के लिए रोलर चलाया गया। रोलर चलाने के बाद इसे पूरी तरह से समतल बनाया गया है।

Neeraj Kumar AzadWed, 24 Nov 2021 07:15 AM (IST)
आइस स्केटिंग रिंक में आइस स्केटिंग की तैयारी के लिए मैदान को बराबर करते हुए। जागरण

शिमला, जागरण संवाददाता। राजधानी शिमला में नवंबर के अंतिम सप्ताह से शुरू होने जा रही आइस स्केटिंग के लिए आयोजकों ने तैयारी तेज कर दी है। मंगलवार को मैदान ठीक करने के लिए रोलर चलाया गया। रोलर चलाने के बाद इसे पूरी तरह से समतल बनाया गया है। अब पानी की तीन परतें बर्फ जमाने के लिए बिछाई जानी हैं। पानी जमने यानी यहां का न्यूनतम तापमान जमाव बिंदू के नीचे जाने के बाद स्केटिंग का लुत्फ शहर के बच्चों के साथ सैलानी भी उठा सकेंगे।

आइस स्केटिंग रिंक के पदाधिकारी पंकज प्रभाकर ने बताया कि मंगलवार को मैदान पर रोलर चलाया गया। रोलर सुबह के बजाय दोपहर को चलाया। इसलिए पानी के छिड़काव में देरी होने की उम्मीद है। हालांकि ये काम सोमवार को किया जाना था, लेकिन रोलर उपलब्ध न होने के कारण समय पर काम नहीं हो सका। पिछली बार आइस स्केटिंग रिंक में स्केटिंग के सुबह व शाम के मिलाकर 86 सेशन हुए थे। एक दिन में सुबह व शाम को दोनों समय आइस आइस स्केटिंग रिंक में स्केटिंग होने पर दो सेशन गिने जाते हैं।

इस तरह से जमाई जाती है बर्फ

आइस स्केटिंग रिंक में बर्फ जमाने के लिए पहले रोलर चलाकर मैदान की सतह को मजबूत किया जाता है। इसके बाद पानी का तीन चरणों मेें छिड़काव किया जाता है। पहले चरण में एक हजार लीटर पानी का छिड़काव किया जाता है। एक से दो घंटे में पानी जमना शुरू हो जाता है। इसके बाद दूसरी सतह के लिए पानी का छिड़काव दो से तीन हजार लीटर किया जाता है। इसके जमने के दो घंटे के बाद तीसरी सतह के लिए पानी का छिड़काव किया जाता है। जमाव बिंदू से तापमान नीचे होने पर साफ आसमान में पानी जमकर बर्फ में तबदील हो जाता है।

इस बार 10 फीसद कम होगा रिंक का आकार

रिंक की लंबाई व चौड़ाई को देखें तो 1325 वर्ग मीटर आकार के मैदान पर शहर के बच्चों से लेकर बड़े यहां पर खेल का हुनर सीखते हैं। हर साल छोटे बच्चों से लेकर बुजुर्ग यहां पर आते हैं। इनकी प्रतियोगिताएं करवाने से लेकर सिखाने तक काम किया जाता है। इस बार रिंक के पास एस्केलेटर का काम चल रहा है, इसलिए 10 फीसद जमीन इसके लिए छोड़ी है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.