Nagrota Bagwan Fire Incident : हार्डवेयर स्टोर के सेल्समैन ने ही लगाई थी आग, कहा-प्रताडऩा से तंग आकर दिया घटना को अंजाम

Nagrota Bagwan Fire Incident कांगड़ा के नगरोटा बगवां में नए बस स्टैंड के समीप अनुपम हार्डवेयर की दुकान पर 12 नवंबर मध्य रात्रि लगी आग की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। समलोटी की पंचायत कालीजन निवासी अभिषेक उर्फ मिठ्ठू को आग लगाने के आरोप में रविवार को गिरफ्तार किया।

Virender KumarSun, 28 Nov 2021 08:33 PM (IST)
नगरोटा बगवां में जला अनुपम हार्डवेयर स्‍टोर। जागरण आर्काइव

नगरोटा बगवां, संवाद सहयोगी। Nagrota Bagwan Fire Incident, कांगड़ा के नगरोटा बगवां में नए बस स्टैंड के समीप अनुपम हार्डवेयर की दुकान पर 12 नवंबर मध्य रात्रि लगी आग की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। समलोटी की पंचायत कालीजन निवासी अभिषेक उर्फ मिठ्ठू को आग लगाने के आरोप में पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया।

एसपी खुशहाल शर्मा ने बताया कि आरोपी अभिषेक को सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। अभिषेक अनुपम हार्डवेयर की दुकान पर ही सेल्समैन की नौकरी करता था इससे पूर्व आठ अक्टूबर को भी हार्डवेयर की दुकान पर आग लगने के पश्चात उसने नौकरी छोड़कर ढाबे में काम करना शुरू कर दिया था। पुलिस द्वारा आसपास दुकानों पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया जिसमें अभिषेक नजर आ रहा था। पुलिस द्वारा विभिन्न पहलुओं पर जांच करने के पश्चात अभिषेक को पुलिस थाना नगरोटा बगवां में पूछताछ के लिए बुलाया गया जहां उसने अपने गुनाह को कबूला। उसके पश्चात उसे गिरफ्तार किया गया।

अग्निकांड से दोमंजिला दुकान को खासा नुकसान पहुंचा था। अंदर रखा करोड़ों का सामान जलकर राख हो गया था। इस मामले को सुलझाने में पारिवारिक सदस्यों के साथ-साथ शहरवासियों का विशेष सहयोग रहा।

कबूला जुर्म, कहा मालिक करता था परेशान

आरोपित अभिषेक ने कहा कि आठ अक्टूबर को भी उसी ने दुकान में आग लगाई थी। उस समय आग पूरी तरह से नहीं लगी थी। इसलिए आधा सामान बच गया था। जब वह दुकान में काम करता था तो मालिक उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करता था। बात-बात पर खरी खोटी सुना देता था, जिसके चलते मानसिक रूप से प्रताडि़त होता था। इसी प्रताडऩा का बदला लेने के लिए उनके दुकान में आग लगाई।

दुकान में पीछे से घुसकर और ताला काटकर दिया अंजाम

12 नवंबर के रात को अभिषेक दुकान के पीछे से छत पर चढ़ा। उसके बाद वह टंकी के सहारे नीचे उतरा। नीचे उतरकर उसने शटर में लगे लाक को काट दिया। अंदर जाकर उसके ज्वलंत चीजों जैसे तारपीन, रंग को पूरे स्टोर में बिखेर दिया और आग लगाकर वहां से भाग गया। दुकान में पिछले और के होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में अभिषेक कैद हो गया।

जिस पर था पूर्ण विश्वास, उसी ने किया विश्वासघात

अनुपम हार्डवेयर के पारिवारिक सदस्यों का विश्वासपात्र ही अग्निकांड का आरोपित निकला। अग्निकांड का आरोपित मि_ू पारिवारिक सदस्यों का कितना विश्वासपात्र था इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आठ अक्टूबर को अनुपम हार्डवेयर में आग लगने के पश्चात जब पुलिस द्वारा छानबीन की गई तो मि_ू से भी पूछताछ करने की बात कही गई। उस समय अनुपम हार्डवेयर के मालिक दर्शन कुमार ने यह कहकर मि_ू से पूछताछ करने से मना कर दिया था कि यह तो हमारे घर के सदस्य समान है तथा बहुत ही शरीफ लड़का है जो अपने काम के प्रति समर्पित रहता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.