ब्यास की उफनती लहरों पर राफ्ट से होगा 213 किलोमीटर सफर, परिवहन मंत्री भी हुए सवार; पढ़ें पूरी खबर

मनाली, जेएनएन। अटल विहारी वाजपेयी पर्वतारोहण खेल संस्थान मनाली साहसिक खेलों में नया कीर्तिमान स्थापित करेगा। मनाली से ब्यास की लहरों पर राफ्टिंग का अभियान मनाली से शुरू हुआ, जो कांगड़ा जिले के देहरा में संपन्न होगा। पहली बार हो रहे राफ्टिंग के सबसे लंबे 213 किलोमीटर के अभियान को लिम्का बुक ऑफ रिकाॅर्डस में दर्ज किया जाएगा। परिवहन एवं खेल मंत्री गोविंद ठाकुर ने इसे हरी झंडी दिखाई।

गोविंद ठाकुर ने कहा कुल्लू-मनाली साहसिक खेलों का हब बनेगा। उन्होंने कहा प्रदेश सरकार इस दिशा में हर संभव प्रयास कर रही है। इस अभियान से प्रदेश में जल क्रीड़ाओं को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा संस्थान के निर्देशक कर्नल नीरज राणा के नेतृत्व में राफ्टिंग का यह दल आज मनाली से रवाना हुआ और 26 को कांगड़ा के देहरा में पहुंचेगा। उन्होंने कहा इस तरह के आयोजन से साहसिक पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। मंत्री ने संस्थान के निर्देशक कर्नल नीरज राणा व उनकी टीम को बधाई दी और अभियान के सफलता पूर्वक संपन्‍न होने की शुभकामनाएं दी।

अटल विहारी वाजपेयी पर्वतारोहण खेल संस्थान के निर्देशक कर्नल नीरज राणा ने कहा कि मनाली से देहरा के मध्य रिवर राफ्टिंग एक्सपीडिशन पर निकल रहे हैं। एक्सपीडिशन में दो राफ्ट में 12 राफ्टरों का दल शामिल रहेगा। 213 किमी लंबे इस एक्सपीडिशन को लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी शामिल किया जा रहा है। इस तरह के एक्पीडिशन का आयोजन ब्यास नदी में पहली बार किया जा रहा है।

 

अपने आप में जोखिम व रोमांच से भरा है यह एक्सपीडिशन

ब्यास की उफनती जलधारा में पहली बार आयोजित हो रही 213 किमी लंबी रिवर राफ्टिंग अपने आप में जोखिम व रोमांच से भरी हुई है। मनाली से रायसन तक 30 किलोमीटर का भाग खरतनाक नुकीली चट्टानों से भरा  हुआ है। इन दिनों इस जगह पानी कम होने से अभियान को दिक्कत का सामान करना पड़ सकता है। रायसन के बाद लारजी डैम और पंडोह डेम में राफ़ट उठानी पड़ेगी। पंडोह से मंडी तक सफर और चुनौती भरा रहेगा। यहां पानी कम होने से पैडलिंग का सहारा लेना पड़ेगा। मंडी से आगे ब्यास की गहरी खाई व संकरी ब्यास का भी अभियान दल को सामना करना पड़ेगा।

 

मंत्री ने स्वयं राफ्टिंग कर बढ़ाया जवानों का हौंसला

मंत्री गोविंद ठाकुर ने इस अभियान दल के जवानों का हौंसला बढ़ाने के लिए मनाली से पतलीकूहल तक 18 किलोमीटर राफ्टिंग की। उन्होंने अभियान दल का हिस्सा बनते हुए पौने घंटे तक अभियान दल का हौंसला बढ़ाया। उन्होंने कहा अभियान दल के लीडर कर्नल राणा बधाई के पात्र हैं।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.