अब ज्वालामुखी में निकला अजगर, बानुए दा खूह में पालतू कुत्ते को बनाया अपना शिकार Kangra News

ज्‍वालामुखी में अजगर ने पालतू कुत्‍ते को निवाला बना लिया। जागरण
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 02:17 PM (IST) Author: Rajesh Sharma

ज्वालामुखी, जेएनएन। हमीरपुर के बाद अब जिला कांगड़ा में अजगहर निकला है। ज्‍वालामुखी में बानू दा खुह स्थि‍त श्मशानघाट में एक अजगर ने पालतू कुत्ते को अपना शिकार बना डाला। इलाके में अजगर द्वारा कुत्ते को निगलने की घटना से लोग दहशत में आ गए हैं। यह घटना मंगलवार को सामने आई है। कुत्‍ते के भौंकने के बाद अचानक चुप हो जाने पर आसपास के लोगों ने देखा तो वहां अजगर था और उसने कुत्‍ते को अपने चंगुल में फंसा लिया था। विशालकाय सांप ने देखते ही देखते कुत्‍ते को मार डाला। नाले में होने के कारण कोई भी कुत्‍ते को बचाने की हिम्‍मत नहीं जुटा पाया।

लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग की टीम को दी। मौके पर पहुंचे वन खंड अधिकारी भड़ोली भूपेंद्र, गार्ड पंकज व विनोद ने कड़ी मशक्कत के बाद अजगर के मुंह में फंसे मृत आधे कुत्ते को निकाला व बाद में अजगर पर काबू पाया। उसे एक बड़े बोरे में डालकर विभाग के अधिकारी यहां से निकल गए। अजगर को वन विभाग द्वारा पकड़ने के बाद यहां ग्रामीणों ने भी राहत की सांस ली। अधिकारियों ने कहा कि अजगर को घने जंगल मे छोड़ा जाएगा, जहां 10 से 15 किलोमीटर तक कोई आबादी नहीं होगी।

दरअसल अजगर द्वारा कुत्ते को निगलने के बाद ग्रामीणों में काफी दहशत का माहौल पैदा हो गया था। इधर, ग्रामीणों ने इस सारे घटनाक्रम का वीडियो भी फेसबुक सहित अन्य सोशल साइटों पर वायरल कर दिया। थाना ज्‍वालाजी से भी एक टीम थाना प्रभारी मनोहर चौधरी के नेतृत्व में एएसआई बलदेव राज शर्मा, एएसआइ विपन व अन्य पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंची थी।

इसलिए लोगों ने अजगर पर नहीं किया कोई प्रहार

दरअसल बीते दिनों फेसबुक सहित अन्य सोशल साइटों पर हमीरपुर जिला के नादौन में अजगर को गोली मारने के वायरल वीडियो के बाद उक्त व्यक्ति के खिलाफ वाइल्ड लाइफ प्रोटक्शन एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ है। यह मामला ध्‍यान में होने के कारण यहां किसी भी ग्रामीण ने अजगर पर प्रहार नहीं किया। नादौन में अजगर को गोली मारने का मामला काफी वायरल हुआ था।

आबादी से दूर छोड़ा जाएगा अजगर : वन विभाग

ज्वालामुखी के आरओ शशिपाल ने बताया उक्‍त इलाके में अजगर द्वारा कुत्ते को निगलने की सूचना के बाद विभाग के अधिकारी व वन रक्षक मौके पर गए थे। अजगर को आबादी से दूर घने जंगल में छोड़ा जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.