परागपुर के नक्की खड्ड में कोलतार प्‍लांट लगाने के विरोध में उतरे चार पंचायतों के लोग Kangra News

कोलतार प्लांट के विरोध में परागपुर, अप्पर परागपुर, बलियाणा व मूहीं पंचायतें उतर आई हैं।

परागपुर के नक्की खड्ड में लगाए जा रहे कोलतार प्लांट के विरोध में परागपुर अप्पर परागपुर बलियाणा व मूहीं पंचायतें उतर आई हैं। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर में भी शिकायत दर्ज करवाई गई है। परागपुर के नक्की खड्ड में लगाए जा रहे कोलतार प्लांट के

Rajesh Kumar SharmaWed, 03 Mar 2021 11:00 AM (IST)

परागपुर, हरभजन भाटिया। परागपुर के नक्की खड्ड में लगाए जा रहे कोलतार प्लांट के विरोध में परागपुर, अप्पर परागपुर, बलियाणा व मूहीं पंचायतें उतर आई हैं। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर में भी शिकायत दर्ज करवाई गई है। परागपुर पंचायत की सीमा पर बणी पंचायत के तहत राजस्व गांव डांगड़ा के तहत मलकीयती खड्ड पर कोलतार का प्लांट लगाया जा रहा है। नक्की के बाशिंदों सहित साथ लगती जमीन के मालिकों ने अपना विरोध दर्ज करवाने के लिए एसडीएम देहरा को एक ज्ञापन भी सौंपा था। साथ ही नक्की निवासी ने सीएम हेल्पलाइन में भी इस बाबत शिकायत दर्ज करवाई थी।

जिस पर वरिष्ठ पर्यावरण अभियंता डॉ. आरके नड्डा ने संज्ञान लेते हुए कोलतार प्लांट लगाने वाले व्यक्ति को 18 फरवरी 2021 को शो कॉज नोटिस अंडर वाटर (प्रिवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ पॉल्युशन) एक्ट 1974 और एयर एक्ट 1981 के तहत देकर जवाब मांगा है। नोटिस में यह भी चेताया गया है कि यदि कोलतार प्लांट लगाने वाले व्यक्ति ने प्रदूषण नियंत्रण कंट्रोल बोर्ड के नियम अनुसार कार्य न किया तो बोर्ड कानूनी कार्रवाई करेगा और उसका जिम्मेवार वह स्वयं होगा।

वहीं साथ लगती चारों पंचायतों ने जो प्रस्ताव विरोध में पारित किए हैं उसमें लिखा गया है कि प्रस्‍तावित कोलतार प्लांट राजकीय अस्पताल परागपुर के बिल्कुल समीप है और 33 केवी सबस्टेशन, जल शक्ति विभाग का मंडल कार्यालय, गैस एजेंसी, विद्युत परिषद का कार्यालय और विकास खंड परागपुर का कार्यालय भी कुछ ही दूरी पर हैं। साथ में घनी आबादी भी है और चारों पंचायतों के लोगों को यह प्लांट सबसे अधिक प्रभावित करेगा। इसलिए उक्त प्लांट काे नक्की में नहीं लगाया जाए। इन पंचायतों ने उक्त प्रस्ताव आगामी कार्रवाई के लिए एसडीएम देहरा को सौंप दिए हैं।

वहीं बणी पंचायत के लोग भी प्लांट लगाए जाने के विरोध में है। इन्होंने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, जिला व उपमण्डल प्रशासन से आग्रह किया है कि लोगों के स्वाथ्य को ध्यान में रखकर उक्त कोलतार के प्लांट को जल्द से जल्द बंद करने के आदेश दिए जाएं।

क्या कहते हैं वरिष्ठ पर्यावरण अभियंता

हिमाचल प्रदेश राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड धर्मशाला के वरिष्ठ पर्यावरण अभियंता डॉ. आरके नड्डा ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से उन्हें परागपुर की नक्की खड्ड में लगाए जा रहे कोलतार प्लांट के संबंध में शिकायत मिली है और बोर्ड ने नियम अनुसार कार्रवाई करते हुए प्लांट लगाने वाले व्यक्ति को नोटिस भी जारी कर दिया है।

क्या कहते हैं एसडीएम

एसडीएम देहरा धनबीर ठाकुर ने कहा पंचायतों ने जो ज्ञापन सौंपा था, उन्हें आगामी कार्रवाई के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व खनन विभाग को भेज दिया है। कोलतार लगाने वाले व्यक्ति को प्रशासन की तरफ से भी कोई एनओसी जारी नहीं की गई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.