धर्मशाला में करेरी झील ट्रैक पर पाकिस्तानी मोबाइल फोन कंपनी का सिग्‍नल मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

पाकिस्तानी मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल होने की बात सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गईं हैं।

Pakistan Mobile Company Signal In Dharamshala जिला कांगड़ा के शाहपुर उपमंडल के तहत पड़ते करेरी झील ट्रैक पर कुछ दिन से पाकिस्तान की मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल आ रहा है। पाकिस्तानी कंपनी का सिग्नल होने की बात सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गईं हैं।

Rajesh Kumar SharmaSat, 17 Apr 2021 01:03 PM (IST)

धर्मशाला, जागरण संवाददाता। Pakistan Mobile Company Signal In Dharamshala, जिला कांगड़ा के शाहपुर उपमंडल के तहत पड़ते करेरी झील ट्रैक पर कुछ दिन से पाकिस्तान की मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल आ रहा है। जिले में पाकिस्तानी मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल होने की बात सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गईं हैं। पिछले सप्ताह धर्मशाला क्षेत्र से ट्रैकरों का एक दल करेरी झील की तरफ गया था। इस ट्रैक में नोली खड्ड और रियूटी क्षेत्र से लेकर करेरी झील तक किसी भी मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल नहीं होता है। आम तौर पर झील के पास केवल बहुत ही छोटे से क्षेत्र में एक मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल होता है।

जब यह ग्रुप धर्मशाला लौटा तो उन्होंने पुलिस प्रशासन को सूचित किया कि करेरी ट्रैक पर पाकिस्तान की मोबाइल फोन कंपनी का सिग्नल कई स्थानों पर उपलब्ध था। उन्होंने इसके सुबूत भी पुलिस प्रशासन को दिए हैं। सूचना के बाद पुलिस ने इस संबंध में दूरसंचार विभाग शिमला को पत्र लिखा और जांच के बाद रिपोर्ट सौंपने को कहा।

पुलिस अधीक्षक कांगड़ा विमुक्त रंजन ने बताया कि पुलिस ने दूरसंचार विभाग शिमला को पत्र लिखा है। सुरक्षा एजेंसियों को भी सचेत रहने का निर्देश दिया गया है।

इससे पहले भी धर्मशाला क्षेत्र में पाकिस्‍तान की मोबाइल फोन कंपनी का सिग्‍नल पाया गया है। ट्रैकिंग व प्रस‍िद्ध पर्यटन स्‍थल त्रियुंड सहित खनियारा के खड़ोता में भी पाकिस्‍तान की मोबाइल कंपनी का सिग्‍नल पाया जा चुका है। हालांकि विशेषज्ञों का मानना है यह तकनीकी कारणों से होता है, कई बार फ्रिक्‍वेंसी बढ़ाने से सिग्‍नल आगे निकल जाता हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.