top menutop menutop menu

पंप हाउस के ट्रांसफार्मर से दिए कनेक्‍शन काटे जाएंगे, अब आधार कार्ड से लिंक होगा नल; पढ़ें पूरी खबर

मंडी, जेएनएन। प्रदेश में सिंचाई एवं जनस्‍वास्‍थ्‍य विभाग की स्कीमों के लिए लगाए गए ट्रांसफार्मर से लोगों को दिए कनेक्शन काटे जाएंगे। आइपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने यह आदेश दिए हैं। लोगों को कनेक्शन देने से पंप हाउस की मशीनरी चलाने में दिक्कत आ रही है, लोड कम होने से विभाग की मोटरें जल रही हैं। इस कारण आइपीएच मंत्री ने कनेक्‍शन काटने का आदेश दिया है। इसके अलावा अब हर नल का कनेक्‍शन आधार कार्ड के साथ लिंक किया जाएगा।

सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा प्रदेश में जल जीवन मिशन में पहले चरण में एक हजार करोड़ रुपये खर्चे जाएंगे। इस मिशन के तहत हर घर को पाइप के जरिये पेयजल आपूर्ति का लक्ष्य है। वे वीरवार को परिधि गृह मंडी में मंडी जोन के सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ विभाग की विभिन्न योजनाओं की प्रगति की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को जल जीवन मिशन के पहले चरण में निर्धारित काम को 31 मार्च तक हर हाल में पूरा करने के निर्देश दिए।

उन्‍होंने कहा जल जीवन मिशन (जेजेएम) में वित्‍त पोषण परिणामों के अनुरूप है। अच्‍छा प्रदर्शन करने वाले राज्‍य को केंद्र सरकार से अधिक धन मिलता है, जबकि कमजोर प्रदर्शन करने वाले राज्‍यों का हिस्‍सा घट जाता है। इसलिए 31 मार्च 2020 तक पहले चरण के शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने के लिए जी जान से काम करें।

इसके अलावा उन्होंने पूर्ववर्ती राष्‍ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम (एनआरडीडब्‍ल्‍यूपी) के चालू कार्यों को इस साल 31 दिसंबर तक पूरा करने के निर्देश दिए हैं। महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा घरों में पेयजल के नए कनेक्शन देने के निर्धारित काम को पूरा करने के साथ-साथ उसे आधार से लिंक करवाना भी तय बनाएं। इसके लिए फील्ड स्टाफ को प्रशिक्षित करें। साथ ही पुराने कनेक्शन में आवश्यकतानुरूप पाइप बदलने के काम को पूरा करें ।

मंत्री ने अधिकारियों के साथ विभाग की अन्य परियोजनाओं के संबंध में भी विस्तार पूर्वक चर्चा की। जेजेएम के अतिरिक्त प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, गृह जल प्रबंधन, एशियाई विकास बैंक द्वारा शुरू किये गए कार्यों की भी विस्तार से समीक्षा की गई। बैठक में आइपीएच विभाग के मंडी जोन के मुख्य अभियंता आरके महाजन, अधीक्षण अभियंता कुल्लू देवेश भारद्वाज, कार्यकारी अधीक्षण अभियंता सुंदरनगर चतर सिंह ठाकुर, मंडी जोन के सभी अधिशाषी अभियंता और एसडीओ मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.