नालागढ़-बद्दी फोरलेन निर्माण का रास्ता हुआ साफ, जद में आ रहे पेड़ काटने की वन विभाग से मिली अनुमति

Nalagarh Baddi Four Lane नालागढ़-बद्दी फोरलेन का कार्य शीघ्र शुरू होने जा रहा है। इस फोरलेन निमार्ण में करीब 2910 पेड़ काटे जाएंगे। वन विभाग ने पेड़ों को काटने की मंजूरी दे दी है। विभाग की मंजूरी के साथ ही नालागढ़-बद्दी फोरलेन निमार्ण का मार्ग प्रशस्त हो गया है।

Rajesh Kumar SharmaThu, 09 Dec 2021 06:47 AM (IST)
नालागढ़-बद्दी फोरलेन का कार्य शीघ्र शुरू होने जा रहा है।

नालागढ़, रूप कुमार। Nalagarh Baddi Four Lane, नालागढ़-बद्दी फोरलेन का कार्य शीघ्र शुरू होने जा रहा है। इस फोरलेन निमार्ण में करीब 2910 पेड़ काटे जाएंगे। वन विभाग ने पेड़ों को काटने की मंजूरी दे दी है। विभाग की मंजूरी के साथ ही नालागढ़-बद्दी फोरलेन निमार्ण का मार्ग प्रशस्त हो गया है। विभाग ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचआइए) को सरकारी भूमि पर 1691 पेड़ काटने की स्वीकृति दे दी गई है। निजी भूमि पर खड़े 190 पेड़ों को काटने के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। इनमें से कुछ के दस्तावेज विभाग के पास पहुंच गए है। वहीं, डीपीएफ लैंड पर खड़े पेड़ों के कटान के लिए एफसीए केस बनाया गया है, जिसकी मंजूरी मिलते ही इसका भी कटान शुरू हो जाएगा।

सरकारी भूमि से 1691 पेड़ काटने की मंजूरी के साथ विभाग जल्द ही कटान कार्य शुरू कर देगा, ताकि फोरलेन का कार्य आरंभ हो सके। फोरलेन निर्माण में आ रहे स्ट्रक्चर गिराने का कार्य जारी है। अब तक करीब 24 स्ट्रक्चर गिराए जा चुके है।

फोरलेन के निर्माण कार्य को शुरू करवाने के लिए प्रशासन पूरी तरह कमर कसे हुए है। प्रशासन फोरलेन निर्माण से जुडे हर कार्य पर गंभीरता बनाए हुए है। लोगों को अपने स्ट्रक्चर स्वयं गिराने के लिए प्रेरित कर रहा है। फोरलेन निर्माण के लिए सड़क के दोनोंं और खड़े पेडों को काटने के लिए वन विभाग से मंजूरी मिल गई है। बद्दी से नालागढ़ तक फोरलेन निर्माण में 415 भवन आ रहे है, जिन्हें तोडऩे का कार्य भी युद्धस्तर पर चला हुआ है। फोरलेन निर्माण के दौरान यातयात को सुचारू बनाए रखने के लिए सब वे-सब लाइंस और वैकल्पिक मार्ग भी बनाए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि पिंजौर से नालागढ़ तक बनने वाले लगभग 31.195 किलोमीटर लंबे फोरलेन में हिमाचल के हिस्से बद्दी से नालागढ़ तक लगभग 17.6 किलोमीटर भूमि आती है जबकि 13 किमी का हिस्सा हरियाणा के क्षेत्र में आता है। पिंजौर-नालागढ़ फोरलेन में 54.9 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण हुआ है, जिसमें करीब 28 हेक्टेयर हिमाचल व 26 हेक्टेयर जमीन हरियाणा की शामिल है।

गुजरात की पटेल इंफ्रास्टक्चर लिमिटेड कंपनी इस फोरलेन का निर्माण करेगी और इसके निर्माण की समय सीमा ढाई वर्ष रहेगी। पटेल इंफ्रा के निदेशक व प्रोजेक्ट मैनेजर साइट का निरिक्षण कर चुके हैं और मशीनरी को शिफ्ट करने की कवायद में जुटे है। सक्षम अधिकारी एवं एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुर्जर ने बताया कि फोरलेन निर्माण को लेकर सरकारी भूमि से पेड़ काटने की मंजूरी वन विभाग से मिल चुकी है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.