नगर निगम चुनाव: धर्मशाला में एक वार्ड से चार से पांच टिकट के दावेदार, भाजपा और कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें

नगर निगम धर्मशाला के एक वार्ड में अधिक दावेदारों ने पार्टी की चिंता बढ़ा दी है।

Nagar Nigam Chunav Dharamshala नगर निगम धर्मशाला के एक वार्ड में अधिक दावेदारों ने पार्टी व विधायक की चिंता बढ़ा दी है। पार्टी ने भी लोगों से आवेदन मांगे हैं बताया जा रहा है एक वार्ड से चार से अधिक उम्मीदवारों ने आवेदन कर दिया है।

Rajesh Kumar SharmaSun, 28 Feb 2021 01:18 PM (IST)

धर्मशाला, नीरज व्यास। Nagar Nigam Chunav Dharamshala, नगर निगम धर्मशाला के चुनाव को लेकर विधायक विशाल नेहरिया ने ताकत झोंक दी है। एक वार्ड में अधिक दावेदारों ने पार्टी व विधायक की चिंता बढ़ा दी है। पार्टी ने भी लोगों से आवेदन मांगे हैं, बताया जा रहा है एक वार्ड से चार से अधिक उम्मीदवारों ने आवेदन कर दिया है। कुछ एक ऐसे भी हैं, जिन्होंने पार्टी दफ्तर में आवेदन तक नहीं किया है पर सोशल मीडिया में दावेदारी जता रहे हैं। नगर निगम चुनाव की तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए धर्मशाला के विधायक ने ताकत झोंक दी है। विधायक दो दिन धर्मशाला के तकरीबन सभी वार्डों में बैठक कर लोगों की नब्ज टटोल रहे हैं कि किस वार्ड में क्या स्थिति हैं।

हालांकि नगर निगम धर्मशाला में पहली बार हुए चुनाव में कांग्रेस बहुमत के साथ शिखर में रही है। 17 वार्डों में से महज तीन ही भाजपा की झोली में आए थे, बाकी सब वार्ड कांग्रेस ने जीते। कांग्रेस के नेताओं ने भी अपना प्रचार अभियान तेज कर दिया है। हालांकि अभी तक टिकट व चुनाव की घोषणा होने वाली है।

भारतीय जनता पार्टी के लिए जिला कांगड़ा में धर्मशाला के साथ-साथ नई बनी नगर निगम पालमपुर को भी जीतना चुनौती है। पार्टी पूर्व में की गई गलतियां न दोहराते हुए जीतने वाले उम्मीदवारों पर ही दांव लगाने जा रही हैं। हालांकि इससे पहले भारतीय जनता पार्टी ने अपने पर्यवेक्षक तैनात कर पर्यवेक्षकों को भी फील्ड रिपोर्ट मांगी है। पार्टी जल्द ही अपने उम्मीदवार भी घोषित करेगी। लेकिन आंकड़ों की बात की जाए तो भाजपा के पास एक वार्ड में एक पद के लिए पांच से अधिक दावेदार हैं। ऐसे में विधायक के लिए यह चुनौती है कि अपने ही संगठन के एक वार्ड में उम्मीदवारी जता रहे पांच में से एक को मैदान में उतारकर अन्य के साथ तालमेल बैठाना होगा।

अगर इस रणनीति को बनाने में विधायक कामयाब रहते हैं तो भाजपा के लिए राहत की खबर होगी। हालांकि पिछले चुनाव में धर्मशाला में भाजपा के पास सीधे तौर पर 14 वह उम्मीदवार हैं जो कुछ मतों से पिछले चुनाव में हार गए थे। जबकि अब जब मंडल कार्यकारिणी परिवर्तित हुई है। वहीं किशन कपूर व विशाल नेहरिया समर्थक टिकट की आस लगाए बैठे हैं कि भाजपा के सिपाही रहे हैं और उन्हें टिकट मिलना चाहिए। ऐसे में स्थिति ज्यादा न बिगड़े समीकरण सही करने के लिए विधायक विशाल नेहरिया स्वयं नगर निगम के हरेक वार्ड में जा रहे हैं।

वहीं, कांग्रेस पार्टी में भी घमासान चल रहा है। 17 में से 14 उम्मीदवार ऐसे हैं जो नगर निगम को पांच साल तक चलाते रहे हैं। जिनमें से दो को महापौर बनने का भी मौका मिला है तो एक को उपमहापौर का। ऐसे में कांग्रेस भी अपने किए गए कार्यों को लेकर नगर निगम के चुनाव में खुद को मजबूत मान रही है। पर कुछ पार्षद अपने ही वार्ड में कई तरह के समीकरणों से घिरे हुए हैं। ऐसे में चुनाव व उम्मीदवार घोषित होते ही पुराने गिले शिकवे दूर करने की प्रक्रिया चलेगी।

विधायक के सामने ही जनता ने पार्षद को घेरा

विधायक विशाल नेहरिया ने नगर निगम के वार्ड 16 फतेहपुर की जनता की साथ रविवार सुबह ग्यारह बजे बैठक की। जिसमें वार्ड के लोगों को विशाल नेहिरया ने एकजुटता का पाठ पढ़ाया और उन्हें सरकार की योजनाओं की जानकारी दी। बैठक में मौजूद भाजपा समर्थित नगर निगम के पार्षद सर्व चंद को विधायक के सामने ही जनता के घेर लिया। बैठक में दिनेश ने सवाल उठाया कि आज दिन तक सात से अधिक प्रार्थना पत्र पार्षद के पास दिए, लेकिन काम नहीं हो सके। वहीं तिलक राज ने सवाल उठाए कि पार्षद ने उनके क्षेत्र में एक बार भी दौरा नहीं किया। जिसका नुकसान जनता को हुआ है। बैठक में अन्य लोगों ने भी अपनी समस्याओं को रखा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.