पवन काजल बोले, टांडा में मरीजों को नहीं मिल रही सुविधा, ए‍यरपोर्ट विस्‍तारीकरण पर दिया बड़ा बयान

कांगड़ा के विधायक पवन काजल रविवार को बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए। जागरण
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 04:53 PM (IST) Author: Rajesh Sharma

कांगड़ा, जेएनएन। विधानसभा क्षेत्र कांगड़ा के सदस्‍य पवन काजल ने कहा प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज टांडा कोविड केयर सेंटर बनकर रह गया है। अस्पताल के अंदर दूसरी बीमारियों के मरीजों का इलाज नहीं हो रहा है। जनरल ओपीडी बंद है, जिससे चार-पांच जिलों से पहुंचने वाले मरीज परेशान हो रहे हैं। रविवार को मटौर स्थित कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में काजल ने भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी आयुष्मान तथा हिम केयर कार्ड से भी इलाज नहीं हो रहा है। टांडा मेडिकल कॉलेज में डायलिसिस सुविधा मरीजों को नहीं मिल रही है।

विधायक ने जिला कांगड़ा की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा मटौर-शिमला फोरलेन मार्ग नहीं बनने से सरकार ने लोगों को गुमराह किया है। उन्होंने सरकार से पूछा कि धर्मशाला में चलने वाली प्रदेश की दूसरी शीतकालीन राजधानी तथा केंद्रीय विश्वविद्यालय का क्या स्टेटस है। पिछले तीन सालों से जिला कांगड़ा में विकास कार्य ठप पड़े हैं। कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र की जनता आपसे जवाब मांगेगी।

एयरपोर्ट विस्तारीकरण के सवाल पर विधायक ने कहा कि जब तक कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र का विधायक पवन काजल है, तब तक विस्तारीकरण नहीं होगा। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा इस क्षेत्र के लोगों का विस्थापन उन्हें कतई भी मंजूर नहीं है वो नहीं चाहते कि इर्द-गिर्द क्षेत्र के लोग एयरपोर्ट की वजह से विस्थापित हो जाएं।

विधायक ने विद्यार्थियों अथवा अन्य लोगों द्वारा बनाये जाने वाले ओबीसी प्रमाण पत्रों की अवधि एक साल रखने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि इस अवधि को तीन साल किया जाना चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.