Migratory Birds:अंतरराष्‍ट्रीय वेटलैंड एवं मानेसर साइट श्रीरेणुकाजी में पहुंचे विदेशी परिंदे, 308 प्रवासी पक्षियों ने झील में बनाया अपना आशियाना

देश विदेश में मौसम परिवर्तन के बाद जिला सिरमौर के अंतरराष्‍ट्रीय वेटलैंड एवं मानेसर साइट श्रीरेणुकाजी झील में विदेशी परिंदों का पहुंचना शुरू हो गया है। दिसंबर माह के पहले दिन तक 308 विदेशी परिंदों ने श्रीरेणुकाजी झील को अपना आशियाना बना लिया।

Richa RanaThu, 02 Dec 2021 09:36 AM (IST)
अंतरराष्‍ट्रीय वेटलैंड एवं मानेसर साइट श्रीरेणुकाजी झील में विदेशी परिंदों का पहुंचना शुरू हो गया है।

नाहन, राजन पुंडीर। देश विदेश में मौसम परिवर्तन के बाद जिला सिरमौर के अंतरराष्‍ट्रीय वेटलैंड एवं मानेसर साइट श्रीरेणुकाजी झील में विदेशी परिंदों का पहुंचना शुरू हो गया है। दिसंबर माह के पहले दिन तक 308 विदेशी परिंदों ने श्रीरेणुकाजी झील को अपना आशियाना बना लिया। जबकि कयास लगाए जा रहे हैं कि दिसंबर माह के अंत तक यहां पक्षियों की संख्या इससे दोगुनी हो सकती है।

प्रतिवर्ष हजारों प्रवासी पक्षी हजारों किलोमीटर का लंबा सफर तय कर श्रीरेणुकाजी वेटलैंड में पहुंचते हैं। यहां पर पक्षियों को प्रचुर मात्रा में भोजन प्राप्त होता है। वही यहां का शांत व अनुकूल वातावरण भी परिंदों को अपनी और आकर्षित करता है। वन्य प्राणी विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार बुधवार शाम तक अंतर्राष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी वेटलैंड में 308 पक्षी पहुंच चुके थे। अभी तक श्रीरेणुकाजी झील में पहुंचे विदेशी परिंदों में यूरेशियन कूट 13, यूरेशियन मोहरन 280, इंटरमीडियट 2, लिटिल कोमरेंट 6 व मैलाड 7 शामिल है। श्रीरेणुकाजी झील के शांत होने के चलते यहां पर हजारों की संख्या में विदेशी पक्षी पहुंचते हैं।

इस बार इन पक्षियों में कुछ नई प्रजातियां आने की भी उम्मीद है। इसके साथ ही श्री रेणुकाजी झील के समीप जटोन बैराज और गिरी नदी में भी इन पक्षियों की अटकले दिखाई दे रहे हैं। सुबह सुबह की चेहचाहक वेटलैंड को और सुहाना बना रही है। वन्य प्राणी विभाग श्रीरेणुकाजी के वन परिक्षेत्र अधिकारी नंदलाल ठाकुर ने बताया कि बुधवार तक 5 प्रजातियों के 308 विदेशी पक्षियों ने श्रीरेणुकाजी झील में अपना आशियाना बनाया है। सर्दियां बढ़ने के साथ-साथ इन पक्षियों की संख्या भी बढ़ेगी।

गत वर्ष 384 पक्षियों ने झील में 2 महीने तक अपना आशियाना बनाया था। जिला सिरमौर के अंतरराष्ट्रीय वेटलैंड झील श्रीरेणुकाजी में यह विदेशी पक्षी मेहमानों के तौर पर फरवरी माह तक रुकते हैं। उसके बाद यह अपने देशों को लौट जाते हैं। इन दिनों श्री रेणुका जी घूमने आने वाले पर्यटकों के लिए यह विदेशी पक्षियों के दीदार होने से पर्यटक भी काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.