हमीरपुर में गरजीं मिड-डे मील व आंगनबाड़ी वर्कर्स, प्री नर्सरी में मांगी प्राथमिकता

जिला मुख्यालय हमीरपुर में शुक्रवार को मिड-डे मील और आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन ने सीटू के बैनर तले केंद्र व राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शन करने के बाद मिड-डे मील और आंगनबाड़ी वर्कर्स ने एडीसी के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को मांगों का ज्ञापन भेजा है।

Virender KumarFri, 24 Sep 2021 04:08 PM (IST)
मिड-डे मील व आंगनबाड़ी यूनियन के कर्मचारी एसडीएम डा. चिरंजी लाल चौहान के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजते हुए

हमीरपुर, संवाद सहयोगी। जिला मुख्यालय हमीरपुर में शुक्रवार को मिड-डे मील और आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन ने सीटू के बैनर तले केंद्र व राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया।

हमीरपुर के गांधी चौक पर प्रदर्शन करने के बाद मिड-डे मील और आंगनबाड़ी वर्कर्स ने एडीसी के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को मांगों का ज्ञापन भेजा है। सीटू के राज्य सचिव डा. कश्मीर ठाकुर, जिला अध्यक्ष जोङ्क्षगदर ङ्क्षसह तथा आंगनबाड़ी यूनियन हमीरपुर की अध्यक्ष राज कुमारी तथा मिड-डे मील वर्कर्स यूनियन रतन चंद ने जमकर प्रदेश सरकार पर हमला बोला। उन्होंने बताया कि ज्ञापन के माध्यम से आंगनबाड़ी और मिड-डे मील वर्कर्स को सरकार खत्म करने का काम कर रही है। प्राइमरी स्कूलों में ही प्री नर्सरी की कक्षाएं शुरू की जाएंगी, सरकार के इस निर्णय को तुरंत रद करने की मांग की गई है। नियमित कर्मचारियों में तबदील करने, प्री नर्सरी कक्षाओं में नियुक्ति दिए जाने, बाल विकास के परियोजनाओं के बजट में 30 फीसद कटौती को वापस लिए जाने तथा आंगनबाड़ी वर्कर्स और मिड-डे मील वर्कर्स को पेंशन और अन्य सेवानिवृत्ति लाभ देने की मांग प्रमुखता से उठाई गई है। उन्होंने कहा है कि अगर सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है तो वे उग्र आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं करेंगी।

मिड-डे मील वर्कर्स यूनियन के प्रधान रतन चंद ने कहा कि उन्हें कम से कम 10 हजार न्यूनतम वेतन दिया जाए। इसके अलावा जो एफिडेविट उनसे एक वर्ष बाद मांगा जा रहा है उस शर्त को वापस लें। उनका कहना है कि मेडिकल बिल की सुविधा भी उन्हें दी जाए।

आंगनबाड़ी हमीरपुर यूनियन की प्रधान राजकुमारी ने बताया की 23 वर्षों से आंगनबाड़ी में सेवाएं दे रही हैं और प्री नर्सरी के बच्चों को शिक्षा देते आए हैं और साथ ही सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंचा रहे हैं। सरकार का एक मुद्दा रहा है आंगनबाड़ी आइसीडीएस को खत्म करने का। उन्होंने सरकार से मांग की कि प्री नर्सरी कक्षाओं में आंगनबाड़ी वर्कर को प्राथमिकता के आधार पर नियुक्ति दी जानी चाहिए।

सीटू के जिला अध्यक्ष जोङ्क्षगदर ङ्क्षसह ने कहा कि प्रदेशव्यापी आह्वान पर सीटू से संबंधित मिड-डे मील वर्कर्स तथा आंगनबाड़ी वर्कर यूनियन ने शुक्रवार को हमीरपुर में प्रदर्शन किया है। अतिरिक्त एडीसी के कार्यभार देख रहे एसडीएम डा. चिरंजी लाल चौहान के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी भेजा गया है। उन्होंने कहा कि प्री-नर्सरी कक्षाओं में आंगनबाड़ी वर्कर्स को प्राथमिकता के आधार पर नियुक्ति दी जानी चाहिए। सीटू जिलाध्यक्ष ने यह तर्क दिया है कि जो विषय आंगनबाड़ी में पढ़ाया जाता है। प्री नर्सरी कक्षाओं में पढ़ाया जाएगा। इसलिए आंगनबाड़ी वर्कर्स को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। इसके साथ ही मिड-डे मील वर्कर को न्यूनतम वेतन दिए जाने की गुहार लगाई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.