Landslide: मनाली-चंडीगढ़ हाईवे पर सात मील में दरका पहाड़, तीन वाहन आए मलबे की चपेट में, 14 घंटे फंसे रहे लोग

Landslide In Himachal हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और नुकसान का सिलसिला लगातार जारी है। मनाली चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर मंडी जिला के सात मील में एक बार फिर पहाड़ दरका है। भारी भरकम चट्टानें व मलबा गिरने से राजमार्ग बंद हो गया है।

Rajesh Kumar SharmaSat, 31 Jul 2021 08:33 AM (IST)
मनाली चंडीगढ़ हाईवे पर सात मील के पास मलबे की चपेट में आई कार व स्‍कूटी।

मंडी, हंसराज सैनी। Landslide In Himachal, हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और नुकसान का सिलसिला लगातार जारी है। मनाली चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर मंडी जिला के सात मील में एक बार फिर पहाड़ दरका है। भारी भरकम चट्टानें व मलबा गिरने से राजमार्ग बंद हो गया, जो 14 घंटे बाद खुला। 14 घंटे तक सैकड़ों लोग वाहनों में फंसे रहे। इस दौरान तीन वाहन चट्टानों की चपेट में आ गए। सब्‍जी लेकर मंडी जा रही एक जीप क्षतिग्रस्‍त हो गई व चालक घायल हो गया है। एक टैक्‍सी वाहन व पीछे से गुजरते स्‍कूटी सवार पर भी मलबा गिर गया। हालांकि गनीमत रही कि वाहन चालक खतरे को भांप गए व समय रहते पीछे हट गए।

गाड़ी पर मलबा गिरने से अब वाहन चालक यहां से जोखिम उठाकर गुजरने में कतरा रहे हैं। हाईवे पर लगातार मलबा गिरने से मनाली चंडीगढ़ हाईवे पर लंबा जाम लग गया। सैकड़ों वाहन हाईवे पर थम गए। खतरे को भांप कर जीप चालक ने छलांग लगाकर जान बचा ली। राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित होने से दोनों ओर सैकड़ों वाहन, पर्यटक व लोग फंसे हुए हैं। पर्यटकों ने वाहनों व सड़क पर बैठ कर भूखे प्यासे रात गुजारी। सुबह होते ही चट्टानें व मलबा हटाने के लिए जेसीबी मशीन लगाई गई।

यहां फोरलेन का निर्माण कर रही एक कंस्ट्रक्शन कंपनी की लापरवाही फिर सामने आई। प्रशासन की रोक के बाद भी कंस्ट्रक्शन कंपनी पहाड़ की कटिंग करने से बाज नहीं आ रही है। करीब एक माह से सात मील में लगातार पहाड़ दरक रहा है। इससे रोजाना यहां मार्ग बाधित हो रहा है। लोगों की जान पर खतरा हर समय मंडरा रहा है। किसानों व बागवानों को अपने उत्पाद मंडियों तक पहुंचाना पहाड़ जैसी चुनाैती बन गया है।

बल्ह उपमंडल के स्यांह गांव का रहने वाला जीप चालक श्याम लाल शुक्रवार रात कुल्लू से अपनी जीप में सब्जी लेकर आ रहा था। जैसे ही वह रात साढ़े दस बजे के करीब सात मील में पहुंचा, अचानक पहाड़ दरकने से चट्टानें व मलबा जीप पर गिर गया। इससे जीप पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। मार्ग बंद होने से सैकड़ों विद्यार्थी व कर्मचारी अपने संस्थानों में नहीं पहुंच पाए।

कुल्लू जिले काे रोजमर्रा के सामान की सप्लाई भी नहीं हो पाई है। मंडी शहर के टारना की पहाड़ियों में देर रात भूस्खलन होने से प्रशासन ने आधी रात काे कई मकान खाली करवा लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर भेजा है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मंडी आशीष शर्मा ने सात मील में पहाड़ दरकने से राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बाधित होने की पुष्टि की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.