धर्मशाला अस्पताल में अब आमजन को नहीं सताएगी आक्सीजन की कमी

आम लोगों को अब आक्सीजन की कमी नहीं सताएगी। कोरोना की दूसरी लहर में आक्सीजन की आपूर्ति के लिए हुई भागदौड़ से सबक लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने क्षेत्रीय चिकित्सालय धर्मशाला में इसकी उपलब्धता की क्षमता को बढ़ा दिया है।

Vijay BhushanWed, 23 Jun 2021 11:55 PM (IST)
धर्मशाला में स्थित जोनल अस्पताल। जागरण आर्काइव

मुनीष गारिया, धर्मशाला। आम लोगों को अब आक्सीजन की कमी नहीं सताएगी। कोरोना की दूसरी लहर में आक्सीजन की आपूर्ति के लिए हुई भागदौड़ से सबक लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने क्षेत्रीय चिकित्सालय धर्मशाला में इसकी उपलब्धता की क्षमता को बढ़ा दिया है। अब जोनल अस्पताल धर्मशाला में प्रति मिनट 800 लीटर आक्सीजन तैयार होगी।

हिमाचल में अब कोरोना काफी हद तक काबू में आ गया है। अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों की संख्या भी कम हो गई है। इस कारण प्रदेश सरकार ने कोविड अस्पताल धर्मशाला को डिनोटिफाई कर दिया है। धर्मशाला अस्पताल में अब सभी स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी। यहां कोरोना मरीज भर्ती नहीं किए जाएंगे। अक्टूबर में संभावित कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों के अधिक प्रभावित होने की बात कही जा रही है। हालांकि इसका वैज्ञानिक रूप से ठोस कारण अभी सामने नहीं आया है। इसके बावजूद अस्पताल में बच्चों के उपचार के लिए व्यवस्था की जा रही है।

 

वैक्सीनेशन व कोरोना टेस्ट होंगे

धर्मशाला अस्पताल में वैक्सीनेशन तथा कोरोना टेस्ट करवाने के लिए आने वालों को सुविधा मिलती रहेगी। रैन बसेरा में दोबारा वैक्सीनेशन सेंटर चलाने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी के समक्ष मामले को रखा जाएगा। कोरोना मरीजों की संख्या अधिक होने के कारण रैन बसेरा से वैक्सीनेशन सेंटर को शिफ्ट किया गया था। अब हालात सामान्य हैं तो दोबारा वहां इस सुविधा को शुरू किया जाएगा।

 

कोविड अस्पताल धर्मशाला को डिनोटिफाई कर दिया है। अब यहां कोरोना संक्रमित मरीजों को नहीं रखा जाएगा। यहां सामान्य स्वास्थ्य सुविधाएं जल्द शुरू कर दी जाएंगी। अस्पताल की सभी ओपीडी शुरू कर दी हैं। एक दो दिन में वार्ड भी शुरू कर दिए जांएगे।

-डा. राजेश गुलेरी, वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक, जोनल अस्पताल, धर्मशाला।

 आंकड़े कहते हैं

-33 बिस्तर बच्चों के लिए हैं धर्मशाला अस्पताल में। 04 बिस्तर नवजात बच्चों के लिए तथा चार बिस्तर पेडियाट्रिक इंटेसिव केयर यूनिट के हैं। पेडियाट्रिक वेंटीलेंटर न होने के लिए सरकार को मांग भेजी है।

-01 अतिरिक्त अल्ट्रासाउंड मशीन तथा एक्स-रे मशीन स्थापित करने की भी मंजूरी मिली है धर्मशाला अस्पताल में। अस्पताल में कुछ बदलाव करने की आवश्यकता है जिसके लिए प्रक्रिया शुरू की जा रही है।

-28 मार्च से लेकर अब तक 1213 मरीजों का उपचार किया गया धर्मशाला अस्पताल में।

-18 मार्च 2020 से जनवरी 2021 के दौरान अस्पताल में 1600 मरीज भर्ती हुए।

-115 मरीजों की मृत्यु हुई कोरोना की दूसरी लहर में। मृत्यु दर 9.4 फीसद रही।

-1.4 फीसद रही थी पिछले वर्ष अस्पताल में मरीजों की मृत्यु दर।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.