Kinnaur Fire Incident: रामनी गांव में दस घंटे तक भड़की रही आग में आठ मकान राख, देखिए दर्दनाक तस्‍वीरें

Kinnaur Fire Incident जिला किन्‍नौर को एक और आपदा ने झकझोर कर रख दिया है। बीते दिनों हुए भूस्‍खलन से अभी लोग सहमे हुए ही थे कि इस बीच रामनी गांव में हुआ अग्निकांड ने लोगों को कभी न मिटने वाले जख्‍म दे गया।

Rajesh Kumar SharmaThu, 16 Sep 2021 10:14 AM (IST)
जिला किन्‍नौर को एक और आपदा ने झकझोर कर रख दिया है।

रिकांगपिओ, संवाद सहयोगी। Kinnaur Fire Incident, जिला किन्‍नौर को एक और आपदा ने झकझोर कर रख दिया है। बीते दिनों हुए भूस्‍खलन से अभी लोग सहमे हुए ही थे कि इस बीच रामनी गांव में हुआ अग्निकांड ने लोगों को कभी न मिटने वाले जख्‍म दे गया। बुधवार दोपहर रामनी गांव में अचानक लगी आग ने कई घरों को अपनी जद में ले लिया। देर रात आग सुलगती रही। करीब दस घंटे तक गांव में आग भड़की रही। इस अग्निकांड में 8 परिवार बेघर हुए हैं। इस आग में आठ मकान भी जलकर पूरी तरह से राख हो गए हैं। आग लगने से लाखों की संपत्ति का भी नुकसान हुआ है। इनमें से 2 परिवार तो ऐसे हैं, जिनका इस घटना में सब कुछ जलकर खाक हो गया है, उनके पास कोई सामान नहीं बचा है। फिलहाल प्रशासन द्वारा उनकी रहने की व्यवस्था गुरुकुल स्कूल में कर दी है व उन्हें आज राशन सहित अन्य सामग्री भी वितरित की जाएगी।

दोपहर दो बजे के करीब लगी इस आग को बुझाने के लिए दमकल विभाग, क्यूआरटी, पुलिस,राजस्व विभाग, प्रशासन, जेएसडब्ल्यू के बचाव दल सहित स्थानीय लोग जुटे थे। रात के करीब 12 बजे कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

आग की सूचना मिलते ही एसडीएम निचार मनमोहन सिंह ,नायब तहसीलदार टापरी नानक चंद, एसएचओ टापरी किरण व सरकार के प्रतिनिधि प्रदेश वन विकास निगम के उपाध्यक्ष सूरत नेगी भी मौके पर पहुंचे थे। लेकिन आग की लपटें इतनी भयानक थी कि बचाव दल भी बेबस नजर आया। बचाव दल समय पर आग पर काबू नहीं पा सका। यहां जितने भी मकानों में आग लगी थी, वे सभी मकान लकड़ी के बने हुए थे तथा पानी की सही व्यवस्था न होने के कारण भी आग को काबू करने में समय लगा। हालांकि इस आग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

एसडीएम निचार मनमोहन सिंह ने बताया प्रशासन की ओर से आग से बेघर हुए आाठ परिवारों को बीस-बीस हजार रुपये फौरी राहत के तौर पर प्रदान की गई है व देर रात होने के कारण नुकसान का सही आकलन नहीं हुआ है, जबकि आज राजस्व विभाग की ओर से नुकसान का सही आकलन लिया जाएगा। उन्होंने कहा आग से पूरी तरह से बेघर हुए दो परिवारों को प्रशासन द्वारा रहने की व्यवस्था कर दी है, वह उन्हें आज राशन एवं अन्य सामग्री भी वितरित की जाएगी।

प्रदेश वन विकास निगम के उपाध्यक्ष सूरत नेगी ने कहा कि प्रदेश सरकार आगजनी में बेघर हुए लोगों के साथ खड़ी है व उनके नुकसान की भरपाई करने की सरकार की ओर से पूरी कोशिश की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.