ज्‍वालामुखी में सैनिक का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्‍कार, बड़ी बेटी ने दी पिता को मुखाग्नि

Jawalamukhi Army Personnel रीति रिवाजों को छोड़ आज एक बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी और इस पल का साक्षी पूरा गांव बना। जिन्होंने नम आंखों से सैनिक को श्रद्धांजलि अर्पित की। ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र के जटलाहड़ के एक सैनिक की पश्चिम बंगाल में हृदयाघात से मौत हो गई

Rajesh Kumar SharmaMon, 02 Aug 2021 01:58 PM (IST)
पारंपरिक विधि विधान व रीति रिवाजों को छोड़ आज एक बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी

ज्वालामुखी (सपड़ी), संवाद सूत्र। Jawalamukhi Army Personnel, पारंपरिक विधि विधान व रीति रिवाजों को छोड़ आज एक बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी और इस पल का साक्षी पूरा गांव बना। जिन्होंने नम आंखों से सैनिक को श्रद्धांजलि अर्पित की। ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र के जटलाहड़ के एक सैनिक की पश्चिम बंगाल में हृदयाघात से मौत हो गई और सोमवार को उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव जटलाहड़ फकलोह ज्वालामुखी में राजकीय सम्मान के साथ सैनिकों द्वारा पहुंचाया गया। इस मौके पर प्रशासन की तरफ से एसडीएम ज्वालामुखी मनोज ठाकुर द्वारा सैनिक को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। गांव के प्रधान, उपप्रधान, सदस्य व अधिकारियों ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

जब सैनिक का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचाया गया तो परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था और पत्नी तो बेहोश हो गई। विधि विधान सहित राजकीय सम्मान के साथ सैनिक का अंतिम संस्कार किया गया और सैनिकों व प्रशासन की ओर से श्मशान घाट में गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया। इस दौरान हवाई फायर किए गए।

यह भी पढ़ें: खालिस्तान समर्थकों ने भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा और हिमाचल के मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर को दी धमकी

सैनिक को अंतिम विदाई देने के लिए पूरे गांव के लोग श्मशान घाट पहुंचे और सभी ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई देते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। 53 वर्षीय सैनिक नंद किशोर पश्चिम बंगाल में भारतीय सेना में तैनात थे।

सूचना के मुताबिक नंद किशोर की ड्यूटी के दौरान ह्रदयाघात से मृत्यु हो गई थी। जिसके बाद उनका आज पार्थिव शरीर पैतृक गांव जटलाहड़ पहुंचाया गया और उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार ज्वालामुखी- नादौन राष्ट्रीय राजमार्ग पर दिल्ली कान्वेंट स्कूल के सामने बने श्मशान घाट पर किया गया। नंद किशोर की पत्‍नी के अलावा तीन बेटियां हैं, जो रो रोकर बेहाल हैं।

यह भी पढ़ें: वीरभद्र सिंह की पत्‍नी प्रतिभा हो सकती हैं मंडी उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्‍याशी, राजीव शुक्‍ला की मुलाकात से माना जा रहा तय

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.