जेएंडके पुलिस ने आधी रात चंबा के जलाड़ी गांव में क्यों दी दबिश, जानिए पूरा मामला

जिला चंबा के उपमंडल सलूणी के अतिसंवेदनशील किहार सेक्टर में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। इस पूरी घटना में कुछ लोगों को चोट आई। हिमाचल पुलिस थाना किहार में मामला दर्ज कर जांच शुरू हो गई है।

Richa RanaFri, 03 Dec 2021 12:56 PM (IST)
किहार सेक्टर में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।

सलूणी (चंबा), संवाद सहयोगी। चंबा जिला के पुलिस थाना किहार के तहत सलूणी उपमंडल की ग्राम पंचायत भांदल के जलाड़ी गांव में जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों ने अचानक दबिश देकर लोगों के घरों की तलाशी ली, ऐसे में जब स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया तो दोनों पक्षों के बीच बहस हो गई, जिसके बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया और जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों ने आंसू गैस के गोले दाग दिए। मामले की सूचना मिलने के बाद थाना किहार पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और उन्होंने जम्मू कश्मीर की पुलिस टीम को हिरासत में लेकर उनका मेडिकल करवाया। करीब तीन घंटे तक जम्मू कश्मीर पुलिस टीम को हिरासत में रखने के बाद उन्हें करीब दोपहर दो बजे छोड़ दिया गया।

दरअसल जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले की एक लड़की की तलाश में वीरवार रात करीब 12 बजे डोडा से 35 हथियारबंद जम्मू-कश्मीर पुलिस के महिला व पुरुष जवानों ने चंबा जिला की सीमा में प्रवेश किया। इसमें लड़की का पिता व गांव का सरपंच भी शामिल था। आरोप था कि जलाड़ी गांव का युवक वहां की एक लड़की को भगाकर यहां ले आया है। देर रात करीब तीन बजे पुलिस ने जलाड़ी गांव को चारों तरफ से घेर लिया। जम्मू कश्मीर पुलिस की ओर से अचानक की गई कार्रवाई से मामला इतना बढ़ गया कि पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई। ऐसे में किहार पुलिस थाना प्रभारी हरनाम ङ्क्षसह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति पर काबू पाया। गुस्साए ग्रामीणों ने जम्मू कश्मीर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की तथा उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करने लगे।

ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि जेएंडके पुलिसकर्मी उनके घरों में जबरन घुस रहे थे। ग्रामीणों ने इसका विरोध किया तो पुलिस ने उनके साथ मारपीट की और आंसू गैस के गोले छोड़े। उधर, डीएसपी सलूणी मयंक चौधरी ने उक्त मामले की रिपोर्ट बनाकर एसपी चंबा को भेजी है, जिसके पुलिस अक्षीक्षक चंबा आगामी कार्रवाई के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस के उच्च अधिकारियों को भेजेंगे।

पांच महिलाओं समेत 15 एसपीओ और दूसरे अधिकारी थे टीम में शामिल

जम्मू कश्मीर पुलिस टीम में पांच महिलाएं, 15 एसपीओ, एक इंस्पेक्टर, एक एएसआइ, सहित बाकी सभी हेड कांस्टेबल शामिल थे।

पुलिस जत्थे में शामिल थी बिना नंबर प्लेट की गाडिय़ां

जम्मू कश्मीर पुलिस जिन गाडिय़ों में सवार होकर जलाड़ी गांव पहुंची थी। उनमें से दो गाडिय़ां बिना नंबर प्लेट के थी, जिनके स्थानीय पुलिस ने चालान किए।

स्थानीय पुलिस का साथ होना जरूरी था

जेएंडके पुलिस ने जिस समय कार्रवाई की थी, उस दौरान उन्होंने स्थानीय पुलिस को साथ लेने की जहमत नहीं उठाई। नियम के अनुसार जम्मू कश्मीर पुलिस ने पुलिस थाना किहार पहुंचकर रिपोर्ट करनी थी, जिसके बाद यहां से दोनों पुलिस दल जलाड़ी गांव के लिए रवाना होने थे।

जम्मू कश्मीर के डोडा की जिस लड़की को खोजते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस यहां पहुंची थी। इस संबंध में लड़की के स्वजन ने डोडा पुलिस में मामला दर्ज करवाया है, जिसकी जांच प्रक्रिया के तहत जेएंडके पुलिस ने वीरवार को हिमाचल की सीमा में प्रवेश किया, जिसकी रपट लंगेरा चौकी में दर्ज है। साथ ही उन्होंने पुलिस थाना किहार को भी सूचित किया था। लेकिन, स्थानीय पुलिस को साथ लिए बिना ही वे गांव में घुस गए और आंसू गैस के गोले छोड़े। ऐसे में उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

-मयंक चौधरी, एसडीपीओ सलूणी।

पड़ोसी राज्य जम्मू-कश्मीर का एक पुलिस दल उच्च न्यायालय जम्मू-कश्मीर के आदेशानुसार एक लड़की की तलाश के लिए पुलिस थाना किहार के आधिकारिक क्षेत्र गांव जलाड़ी में किहार पुलिस को सूचित किए बिना ही चला गया। इस संबंध में पुलिस की ओर से नियमानुसार कार्रवाई की गई है। लोगों से अनुरोध है कि वे इंटरनेट मीडिया में अफवाह न फैलाएं।

-एस. अरुल कुमार, एसपी चंबा

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.