साल के अंत तक नए रूप में दिखेगा हिमानी चामुंडा मंदिर, बर्फबारी के बाद बंद कार्य फ‍िर हुआ शुरू

हिमानी चामुंडा मंदिर के पुर्ननिर्माण कार्य में तेजी लाने की के लिए सामग्री की ढुलाई शुरू कर दी गई है।

Himani Chamunda Temple आदि हिमानी चामुंडा मंदिर के पुर्ननिर्माण कार्य में तेजी लाने की के लिए सामग्री की ढुलाई शुरू कर दी गई है। इसी साल के अंत तक हिमानी चामुंडा मंदिर अब काठकुणी शैली में नजर आएगा।

Rajesh Kumar SharmaTue, 02 Mar 2021 07:45 AM (IST)

योल, सुरेश कौशल। Himani Chamunda Temple, आदि हिमानी चामुंडा मंदिर के पुर्ननिर्माण कार्य में तेजी लाने की के लिए सामग्री की ढुलाई शुरू कर दी गई है। इसी साल के अंत तक हिमानी चामुंडा मंदिर अब काठकुणी शैली में नजर आएगा। इसके लिए मंदिर न्यास ने‌ बकायदा बैठक में प्रस्ताव पारित कर संबंधित ठेकेदार को कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। यहां बता दें कि 2013 के दौरान हिमानी चामुंडा का प्राचीन मंदिर अग्निकांड की भेंट चढ़ गया था। इसी वजह से अनुमानित सवा करोड़ रुपये की लागत से वर्ष ‌‌‌‌2017के दौरान कार्य को अवार्ड किया गया, लेकिन तकनीकी औपचारिकताएं पूरी करने में काफी समय लग जाने से पुनर्निर्माण कार्य में विलंब होता रहा।

बहरहाल छत लेवल तक कार्य पूरा हो चुका है। विदित रहे मंदिर को हिमाचल प्रदेश के प्राचीन मंदिरों की तर्ज़ काठकुणी शैली और कांगड़ा शैली का रूप दिया जा रहा है, जिसके लिए लकड़ी की नक्काशी का कार्य किन्नौर जिले के कारीगरों ने किया है। वहीं दीवारों की चिनाई रिवालसर के नीले पत्थरों से की गई है। कार्य के ठेकेदार पल्लव मेहरा ने बताया छत के कार्य के लिए लोहे के एंगल की ढुलाई की जा रही है ।

वहीं मंदिर अधिकारी अपूर्व शर्मा ने बताया हिमानी चामुंडा मंदिर का कार्य युद्ध स्तर पर चला हुआ है इस साल के अंत तक मंदिर नए रूप में नजर आएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.