Himachal Weather Update: प्रदेश में मौसम के तेवर पड़े ठंडे, दिन के तापमान में बढ़ोतरी

Himachal Weather Update हिमाचल प्रदेश में मौसम के तेवर ठंडे पड़ गए हैं। लेकिन दिन के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। लगातार बारिश के बाद शुक्रवार को अधिकतर स्थानों पर धूप खिली रही शनिवार की शुरुआत भी धूप के साथ ही हुई।

Rajesh Kumar SharmaSat, 25 Sep 2021 07:55 AM (IST)
हिमाचल प्रदेश में मौसम के तेवर ठंडे पड़ गए हैं।

शिमला, धर्मशाला, जेएनएन। Himachal Weather Update, हिमाचल प्रदेश में मौसम के तेवर ठंडे पड़ गए हैं। लेकिन दिन के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। लगातार बारिश के बाद शुक्रवार को अधिकतर स्थानों पर धूप खिली रही, शनिवार की शुरुआत भी धूप के साथ ही हुई। हालांकि आज शनिवार को प्रदेश के कुछ इलाकों में बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के विशेषज्ञों का कहना है शनिवार को प्रदेश में एक-दो स्थानों पर बारिश की संभावना जताई जा रही है, जबकि अधिकतर क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा। प्रदेश में अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई है।

कुछ ही स्थानों पर बादल छाए, हालांकि बारिश नहीं हुई। प्रदेशभर में भूस्खलन के कारण 13 मकानों को नुकसान पहुंचा है, जबकि 261 सड़कें यातायात के लिए बंद हैं। इनमें 160 सड़कें शिमला में, मंडी में 39, सिरमौर में 32, बिलासपुर में सात, सिरमौर, कांगड़ा व कुल्लू में छह-छह और हमीरपुर में पांच सड़कें यातायात के लिए बंद हैं। बिलासपुर में चार, कांगड़ा व सोलन में दो-दो मकानों को नुकसान पहुंचा है। इसके अलावा भी कई जगह घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। 15 गौशालाएं भी क्षतिग्रस्त हुई हैं। अब तक प्रदेश में बरसात के कारण करीब 1108 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है।

कहां कितना रहा तापमान (डिग्री सेल्सियस)

स्थान, न्यूनतम, अधिकतम शिमला, 13.2, 22.4 भुंतर, 15.8, 30.8 धर्मशाला, 17.8, 26.2 कल्पा, 8.9, 20.4 ऊना, 20.5, 34.0 केलंग, 6.6, 20.6 सोलन, 16.4, 28.5

बारिश से करोड़ों का नुकसान, केंद्र से पैकेज मांगें हिमाचल : राठौर

शिमला। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में पिछले कुछ दिन से लगातार हो रही बारिश के कारण बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। कई लोगों की मौत हो चुकी है। आपदा प्रबंधन के विशेष सचिव के मुताबिक बारिश के कारण लगभग 432 के करीब लोगों की मौत हुई है। 12 से ज्यादा लोग लापता हैं, कई स्थानों में बादल फटने की घटना हुई है। भूस्खलन से सभी जिलों में यातायात पर प्रभाव पड़ा है। 125 से ज्यादा मार्ग अब तक बंद हैं। कई घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। करोड़ों का नुकसान हुआ है। राठौर ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि अधिकारियों की बैठक कर उपायुक्तों एवं राजस्व अधिकारियों को निर्देश देकर नुकसान का आकलन करें। उन्होंने बरसात से हुए नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र सरकार से मामला उठाने की मांग की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.