Himachal Weather Update: हिमाचल में ताजा बर्फबारी व बारिश से तापमान में आई गिरावट, होने लगा ठंड का अहसास

Himachal Weather Update हिमाचल प्रदेश की चोटियों पर ताजा बर्फबारी और अन्य क्षेत्रों में वर्षा के कारण तापमान में गिरावट आई है। बारालाचा कुंजुम और अन्य क्षेत्रों में बर्फबारी जारी है। ताजा पूर्वानुमान के अनुसार वीरवार को प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

Rajesh Kumar SharmaThu, 23 Sep 2021 11:54 AM (IST)
हिमाचल प्रदेश की चोटियों पर ताजा बर्फबारी और अन्य क्षेत्रों में वर्षा के कारण तापमान में गिरावट आई है।

शिमला, राज्य ब्यूरो। Himachal Weather Update, हिमाचल प्रदेश की चोटियों पर ताजा बर्फबारी और अन्य क्षेत्रों में वर्षा के कारण तापमान में गिरावट आई है। बारालाचा कुंजुम और अन्य क्षेत्रों में बर्फबारी जारी है। मौसम विभाग की ओर से जारी किए गए ताजा पूर्वानुमान के अनुसार वीरवार को प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई गई है। बुधवार देर रात से कई स्थानों पर हुई  बारिश के कारण तापमान में गिरावट आई है। बारिश के कारण 15 सड़कें बंद हैं, जिन्हें खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। बीते चौबीस घंटों के दौरान पालमपुर में सबसे अधिक 45 मिलीमीटर,  सुंदरनगर में 25, शिमला में 21 मिलीमीटर ताजा बारिश दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें: Snowfall In Himachal: मनाली-लेह मार्ग पर सफर कर रहे हैं तो रहें सावधान, दर्रों में हो रहा हिमपात

ताजा बर्फबारी व बारिश के कारण न्यूनतम तापमान में करीब दो से 3 डिग्री तक की गिरावट आई है। मौसम विभाग की ओर से जारी किए गए ताजा पूर्वानुमान के अनुसार शनिवार तक बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। ताजा बर्फबारी और बारिश के बाद गरम कपड़े निकालने की नौबत आ गई है। आने वाले दिनों में तापमान में और गिरावट आने की संभावना है।

वहीं, मनाली लेह मार्ग पर बारालाचा दर्रे पर बर्फबारी हो रही है। इस कारण यहां सफर जोखिम भरा हो गया है। रोहतांग दर्रे में भी हिमपात हो रहा है। लेकिन अटल टनल रोहतांग के निर्माण के बाद इस मार्ग पर निर्भरता खत्‍म हो गई है।

यह भी पढ़ें:

Police Personnel Crushed: गगरेट में पुलिस चेक पोस्‍ट के पास वाहन ने कुचल दिए तीन जवान, नादौन में पकड़ा ट्रक चालक

बारिश से हुए नुकसान की भरपाई की जाए

पतलीकूहल। कुल्लू फलोत्पादक मंडल के प्रधान प्रेम शर्मा ने सरकार से मांग की है कि उझी घाटी के बुरूआ व मझाच में बारिश से हुए नुकसान की भरपाई की जाए। बारिश से बगीचों में पानी के साथ मलबा व पत्थर आ गए हैं। इससे सेब से लदे पौधों को नुकसान पहुंचा है। कई सेब के पेड़ जड़ से ही उखड़ गए हैं। शीघ्र नुकसान का आकलन करवाकर प्रभावितों को राहत दी जाए। अभी तक उझी घाटी में काफी अधिक सेब बचा हुआ है और सेब सीजन जोरों पर है। सब्जी मंडी में सेब के काफी अच्छे दाम मिल रहे हैं क्योंकि बुरूआ का सेब उच्च गुणवत्ता का होता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.