हिमाचल नियामक आयोग ने निजी विश्वविद्यालयों से मांगा दाखिलों का रिकॉर्ड, पढ़ें पूरा मामला

निजी विश्वविद्यालयों और निजी शिक्षण संस्थानों से तीन साल में हुए दाखिलों का रिकॉर्ड तलब किया है।

Himachal Private University हिमाचल प्रदेश निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग ने निजी विश्वविद्यालयों और निजी शिक्षण संस्थानों से तीन साल में हुए दाखिलों का रिकॉर्ड तलब किया है। निजी विश्वविद्यालयों को पूरे तथ्यों के साथ इस रिकॉर्ड भेजने के निर्देश दिए हैं।

Rajesh Kumar SharmaSun, 11 Apr 2021 09:33 AM (IST)

शिमला, जागरण संवाददाता। Himachal Private University, हिमाचल प्रदेश निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग ने निजी विश्वविद्यालयों और निजी शिक्षण संस्थानों से तीन साल में हुए दाखिलों का रिकॉर्ड तलब किया है। निजी विश्वविद्यालयों को पूरे तथ्यों के साथ इस रिकॉर्ड भेजने के निर्देश दिए हैं। इसमें पूछा गया है कि कितने विद्यार्थियों ने तीन साल के भीतर दाखिला लिया। कितनों को डिग्री दी गई। कितने विद्यार्थियों ने बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी। नाम-पते के अलावा आधार नंबर के साथ यह रिकॉर्ड मांगा गया है। आयोग इसे अपने रिकॉर्ड के साथ वेरिफाई करेगा।

इस रिकॉर्ड के माध्यम से इस बात का पता लगाया जाएगा कि कहीं संस्थान की ओर से किसी छात्र को फर्जी डिग्री तो नहीं दी गई। नियामक आयोग के अध्यक्ष मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) अतुल कौशिक ने बताया कि निजी विश्वविद्यालयों में फर्जी डिग्रियों के कई मामले सामने आए हैं। इन मामलों की जांच पुलिस कर रही है।

आयोग ने अपने स्तर पर भी कई अहम कदम उठाएं हैं, ताकि इस पर नजर रखी जा सके। मांगे गए रिकॉर्ड में कुछ अनियमितता सामने आती है तो कार्रवाई की जाएगी। आने वाले समय में इस प्रक्रिया में कई तरह के अहम बदलाव भी किए जाएंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.