परिवहन मंत्री से मिला टैक्‍सी ऑपरेटर्स यूनियन का प्रतिनिधिमंडल, ये मांगें पूरी करने लगाई गुहार

Himachal Pradesh Taxi Operators हिमाचल भर से टैक्सी ऑपरेटरों का एक बड़ा दल आज़ाद टैक्सी यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह भाटिया की अध्यक्षता में परागपुर पहुंचा। यहां उन्‍होंने दौरे पर पहुंचे उद्योग एवं परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर से मुलाकात की।

Rajesh Kumar SharmaSun, 20 Jun 2021 09:15 AM (IST)
उद्योग एवं परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर

डाडासीबा, संवाद सहयोगी। Himachal Pradesh Taxi Operators, हिमाचल भर से टैक्सी ऑपरेटरों का एक बड़ा दल आज़ाद टैक्सी यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह भाटिया की अध्यक्षता में परागपुर पहुंचा। यहां उन्‍होंने दौरे पर पहुंचे उद्योग एवं परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर से मुलाकात की। वहीं इस दौरान बीते करीब डेढ़ वर्ष से लगातार मंदी की मार झेल रहे उक्त टैक्सी ऑपरेटरों ने मंत्री को ज्ञापन सौंपकर समस्या का समाधान की मांग की है।

वहीं, प्रदेश उद्योग एवं परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर को सौंपे गए ज्ञापन के माध्यम से कहा कोविड-19 महामारी का संकट करीब दो साल से पूरे विश्व पर चल रहा है। उससे टैक्सी ऑपरेटर भी अछूते नहीं हैं। उन्होंने कहा केंद्र सरकार की नोटिफिकेशन संख्या के अनुसार जो मोटर वाहन अधिनियम के कार्यों पर छूट दे रहे हैं। वह सभी को प्राप्त हों। हर पासिंग विभिन्न स्थानों पर ग्रीन टैक्स गाड़ियों से न लिया जाए। टोकन पैसेंजर टैक्स आगामी दो वर्ष के लिए माफ किया जाए।

गाड़ियों की इंश्योरेंस कोरोना काल अवधि तक बढ़ाई जाए। गाड़ी की किश्‍त बिना ब्याज कम से कम दो वर्ष तक बढ़ाई जाए। कागजों के नवीनीकरण पर लगने वाली पेनल्टी माफ की जाए। ड्राइविंग लाइसेंस के नवीनीकरण के समय वर्तमान में लिखा जाता है। इसके स्थान पर ट्रांसपोर्ट लिखा जाए। गाड़ी की आरसी में बैंक का नाम कटवाने या जोड़ने वाली फीस माफ हो, जो टैक्सी गाड़ियां स्टेज कैरियर का काम करती हैं, उन पर अंकुश लगाया जाए।

आरटीओ उड़नदस्ता कुल्लू से मंडी स्थानांतरित किया जाए। जो निजी वाहन सवारियां ढोने का काम करते हैं उनके विरुद्ध सख्त कानून लाया जाए। कोविड-19 के दौरान जो टैक्सी गाड़ियों का परमिट समाप्त हुआ है, वह दो साल आगे बढ़ाया जाए। टैक्सी गाड़ी की आरसी पर कैरियर लिखा जाए। वहीं उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर ने समस्त टैक्सी ऑपरेटर को आश्‍वासन देते हुए कहा कि अगली कैबिनेट की बैठक में उनकी इन मांगों पर जरूर विचार विमर्श किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.