हिमकेयर और आयुष्‍मान भारत योजना में निजी क्षेत्र के बड़े अस्‍पताल नहीं शामिल, देखिए जिलावार आंकड़ा

Himachal Him Care Scheme हिमकेयर व आयुष्मान भारत योजना में निजी क्षेत्र के बड़े अस्पताल शामिल नहीं हैं। इसमें केवल दस बिस्तर वाले या अलग-अलग शल्य चिकित्सा के लिए निजी अस्पतालों ने पंजीकरण करवाया हुआ है। पीजीआइ चंडीगढ़ में हिमकेयर के तहत कैशलैस उपचार का प्रावधान है

Rajesh Kumar SharmaTue, 07 Dec 2021 06:25 AM (IST)
हिमकेयर व आयुष्मान भारत योजना में निजी क्षेत्र के बड़े अस्पताल शामिल नहीं हैं।

शिमला, यादवेन्द्र शर्मा। Himachal Him Care Scheme, हिमकेयर व आयुष्मान भारत योजना में निजी क्षेत्र के बड़े अस्पताल शामिल नहीं हैं। इसमें केवल दस बिस्तर वाले या अलग-अलग शल्य चिकित्सा के लिए निजी अस्पतालों ने पंजीकरण करवाया हुआ है। पीजीआइ चंडीगढ़ में हिमकेयर के तहत कैशलैस उपचार का प्रावधान है, लेकिन एम्स दिल्ली हिमकेयर से बाहर है, जबकि आयुष्मान भारत एम्स दिल्ली में कैशलेस उपचार के लिए शामिल है। हिमकेयर व आयुषमान भारत योजना के तहत प्रदेश के 9.36 लाख परिवार शामिल हैं। इन परिवारों को पांच लाख रुपये सालाना कैशलेस उपचार की व्यवस्था है, इसके लिए प्रदेश में 227 अस्पताल पंजीकृत हैं।

प्रदेश में दोनों योजना के तहत कैशलैस उपचार के लिए 227 अस्पतालों में से केवल 95 ही पंजीकृत हैं। ऐसे में लोगों को सरकारी क्षेत्र के अस्पतालों में समय पर आपरेशन व उपचार की तिथि न मिलने के कारण निजी अस्पतालों में उपचार करवाने को मजबूर होना पड़ रहा है। हिमकेयर के कैशलेस उपचार सुविधा प्रदान करने पर सरकार द्वारा निजी अस्पतालों व क्लीनिकों को क्लेम करने से दस दिनों के भीेतर भुगतान करना आवश्यक है। भुगतान करने में देरी पर सरकार पर 0.14 फीसद प्रतिदिन का भुगतान करना होगा। यह व्यवस्था इसलिए लागू की गई है जिससे समय पर राशि का भुगतान हो। हिमकेयर व आयुषमान योजना के तहत सालाना करीब पौने दो लाख लोग कैशलेस उपचार का फायदा उठा रहे हैं।

हिमकेयर व आयुष्मान योजना में निजी अस्पतालों के पंजीकरण को पांचवी बार बढ़ाई अवधि

हिमकेयर व आयुष्मान योजना के तहत लोगों को कैशलेस उपचार प्रदान करवाने के लिए निजी अस्पतालों को पंजीकरण करवाने के लिए पांचवीं बार अवधि बढ़ाई गई है। अब 31 जनवरी 2022 तक भी निजी अस्पताल इन योजनाओं को प्रदान करने के लिए पंजीकरण करवा सकते हैं। 31 जनवरी तक पंजीकृत न होने वाले निजी अस्पतालों व क्लीनिकों को सरकारी कर्मचारियों व उनके परिजनों के उपचार की रिंबर्समेंट के लिए अधिकृत सुविधाओं को समाप्त कर दिया जाएगा। प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग ने सिंगल विंडो प्रक्रिया को लागू किया है। इसके तहत सभी योजनाओं का लाभ प्रदेश के लोगों को देना होगा।

क्‍या कहते हैं स्‍वास्‍थ्‍य सचिव

स्वास्थ्य सचिव हिमाचल प्रदेश अमिताभ अवस्थी का कहना है हिमकेयर व आयुष्मान भारत योजना के तहत निजी अस्पतालों व क्लीनिकों को पंजीकृत करवाने की अवधि 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दी है। पंजीकरण के लिए सिंगल विंडों की प्रक्रिया को लागू किया गया है।

प्रदेश में किस जिले में कितने अस्पताल हिमकेयर व आयुष्मान भारत के लिए पंजीकृत

जिला, सरकारी, निजी, कुल बिलासपुर, 09, 02, 11 चंबा, 08, 02, 10 हमीरपुर, 11, 04, 15 कांगड़ा, 19, 25, 44 किन्नौर, 06, 01, 07 कुल्लू, 08, 05, 13 लाहुल स्पीति, 06, 00, 06 मंडी, 21, 14, 35 शिमला, 17, 04, 21 सिरमौर, 08, 07, 15 सोलन, 09, 17, 26 ऊना, 10, 14, 24 कुल, 132, 95, 227

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.