कोविड वैक्‍सीन की दूसरी डोज लगाने वाला पहला राज्य बना हिमाचल, जानिए किस तरह पाई सफलता

Himachal Pradesh Covid Vaccination कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने वाला हिमाचल पहला राज्य बन गया है। शनिवार को प्रदेश में 5386393 लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया पहला राज्य बनने की घोषणा की।

Rajesh Kumar SharmaPublish:Sun, 05 Dec 2021 08:55 AM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 03:42 PM (IST)
कोविड वैक्‍सीन की दूसरी डोज लगाने वाला पहला राज्य बना हिमाचल, जानिए किस तरह पाई सफलता
कोविड वैक्‍सीन की दूसरी डोज लगाने वाला पहला राज्य बना हिमाचल, जानिए किस तरह पाई सफलता

शिमला, यादवेन्द्र शर्मा। Himachal Pradesh Covid Vaccination, कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने वाला हिमाचल पहला राज्य बन गया है। शनिवार को प्रदेश में 53,86393 लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया रविवार को बिलासपुर में एम्स की ओपीडी के शुभारंभ पर हिमाचल को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने वाला देश का पहला राज्य बनने की घोषणा की। उनके साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद रहे।

प्रदेश में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज 53.77 लाख लोगों को लगाने का लक्ष्य था। शनिवार को 46,926 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने का लक्ष्य रखा था। इसके लिए 916 केंद्र स्थापित किए थे। प्रदेश में 58.37 लाख लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगी थी। इनमें अन्य राज्यों के मजूदरों के अलावा पर्यटक भी शामिल थे। इस कारण 55.23 लाख लोगों को दूसरी डोज के लक्ष्य को संशोधित कर 53.77 लाख का लक्ष्य रखा गया। पहले निर्धारित लक्ष्य को 30 नवंबर तक पूरा करने की योजना थी, फिर इसे चार दिसंबर तक बढ़ाया था।

92 प्रतिशत के साथ सिक्किम दूसरे, केरल तीसरे स्थान पर

कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने वाले राज्यों में हिमाचल के पहले नंबर पर आने के बाद 92 प्रतिशत के साथ सिक्किम दूसरे और 90 प्रतिशत के साथ केरल तीसरे स्थान पर है।

ऐसे हासिल किया पहला स्थान

चलने-फिरने में अक्षम लोगों को घर-घर जाकर वैक्सीन लगाई। सबसे पहले दुर्गम व जनजातीय क्षेत्रों में वैक्सीन लगाई गई, ताकि हिमपात से कार्य प्रभावित न हो। हर सप्ताह वैक्सीन की समीक्षा। कई बार तो सप्ताह में दो बार भी समीक्षा की गई। पहली डोज के 84 दिन पूरा करने वालों को एसएमएस और मोबाइल पर संपर्क कर वैक्सीन लगवाई। 15 व 26 नवंबर को विशेष ग्रामसभा की बैठकें की गई। हेलीकाप्टर व 10 से 24 किलोमीटर पैदल चलकर भी लगाई वैक्सीन। विद्यार्थियों से उनके अभिभावकों व राशन डिपो के माध्यम से वैक्सीन न लगवाने वाले परिवार के सदस्यों का पता लगाया।

24 किलोमीटर पैदल चलकर 40 लोगों को लगाई वैक्सीन

कुल्लू जिले के बंजार उपमंडल के दुर्गम गांव शाक्टी मरौड़ गांव 40 लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम 24 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंची। गांव तक पहुंचने के लिए टीम को आठ से 10 घंटे पैदल चलना पड़ा। जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति की तिंदी पंचायत में वैक्सीनेशन के लिए कर्मचारी बर्फ के बीच नौ किलोमीटर पैदल चले। कई जगह टार्च की रोशनी से टीकाकरण किया गया।

क्‍या कहते हैं मिशन निदेशक

मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हिमाचल प्रदेश हेमराज बैरवा का कहना है कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने के लक्ष्य को पूरा करने हर उस साधन का उपयोग किया जो किया जा सकता था। विशेष रणनिति के तहत अभियान चलाया गया। पहली डोज के बाद 84 दिन पूरे होने वालों का डाटा लगातार अपडेट कर लोगों को एसएमएस और मोबाइल फोन से संपर्क, घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीन लगाई गई।

किस जिले में, कितने लोगों को लगी वैक्सीन

जिला, पहली डोज, दूसरी डोज कांगड़ा, 1203240, 1140439 मंडी, 792082, 738818 शिमला, 696763, 634019 सोलन, 707529, 584326 ऊना, 441319, 429298 सिरमौर, 438284, 410187 हमीरपुर, 383079, 361954 चंबा, 374103, 352605 कुल्लू, 361902, 322643 बिलासपुर, 327226, 318150 किन्नौर, 79979, 68460 लाहुल स्पीति, 32153, 25494 कुल, 5837659, 5386393