हिमाचल में वीकेंड पर बाजार बंद रहेंगे, बाहर से आने वालों के लिए भी निर्देश, आज से लागू होंगी ये पाबंदियां

हिमाचल सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर तुंरत प्रभाव से नई पाबंदिया लगाने का निर्णय लिया है।

Himachal Govt Covid Restrictions हिमाचल सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर तुंरत प्रभाव से नई पाबंदिया लगाने का निर्णय लिया है। शादी खुले में हो या हाल में सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। अन्य सामाजिक और धार्मिक समारोहों में भी यही व्यवस्था रहेगी।

Rajesh Kumar SharmaWed, 21 Apr 2021 07:52 AM (IST)

शिमला, जेएनएन। Himachal Govt Covid Restrictions, हिमाचल सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर तुंरत प्रभाव से नई पाबंदिया लगाने का निर्णय लिया है। शादी खुले में हो या हाल में, सिर्फ 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। अन्य सामाजिक और धार्मिक समारोहों में भी यही व्यवस्था रहेगी। अब सरकारी कार्यालय 50 फीसद उपस्थिति के साथ पांच दिन ही खुलेंगे। प्रदेश में निर्माण व औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले अन्य राज्य के श्रमिकों को सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। शिमला स्थित राज्य सचिवालय में मंगलवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक में ये फैसले लिए गए।

बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश से अभी श्रमिक पलायन नहीं कर रहे हैं। प्रवासी श्रमिकों के मूल राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति हिमाचल की अपेक्षा अधिक खराब है। उन्होंने उद्योग प्रबंधकों व ठेकेदारों से आग्रह किया कि यदि कोई श्रमिक लौटने का विचार कर रहा है तो उसे रोकें। यदि श्रमिक संक्रमित आते हैं तो श्रमिकों को उनके कार्यस्थल के समीप स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाएं।

सरकार ने सरकारी कार्यक्रमों को टाल दिया है। हॉट स्पॉट राज्यों से आने वाले हिमाचलियों को चाहिए कि वे चलने से पहले स्वास्थ्य की जांच करवा कर आएं या फिर अपने घर-गांव पहुंचकर क्वारंटाइन हो जाएं, ताकि कोरोना संक्रमण की आशंका से बचा जा सके।

प्रदेशभर में शनिवार और रविवार को बाजार बंद

प्रदेशभर में अब शनिवार व रविवार को बाजार बंद रहेंगे। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में दवा, दूध व सब्जी की दुकानों, होटल, ढाबों और रेस्तरां पर यह आदेश लागू नहीं होंगे। अधिसूचना के मुताबिक सैलून बंद रहेंगे।

23 अप्रैल से आम लोगों के मंदिर में प्रवेश पर रोक

राज्य सरकार ने 23 अप्रैल से मंदिरों सहित सभी धार्मिक स्थलों में आम लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है, जबकि नियमित पूजा होती रहेगी। अधिसूचना के मुताबिक पहली मई तक शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे और शिक्षक भी स्कूल नहीं आएंगे। गैर शिक्षकों व संस्थानों के प्रमुख के संबंध में शिक्षा विभाग अलग से विस्तृत अधिसूचना जारी करेगा।

बसों में 50 फीसद से ज्यादा सवारियां नहीं बैठा सकेंगे

अब बसों में क्षमता से 50 फीसद सवारियां ही सफर कर सकेंगी। मुख्य सचिव की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार मालवाहक वाहनों पर किसी प्रकार की रोक नहीं लगाई है। सार्वजनिक परिवहन सेवाओं के लिए संबंधित विभाग अलग से अधिसूचना जारी करेगा। हिमाचल पथ परिवहन निगम बुधवार से नए निर्देश लागू करेगा। इस संबंध में महाप्रबंधक ट्रैफिक पंकज सिंघल ने प्रदेश के सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों, मंडलीय प्रबंधकों को निर्देश दे दिए हैं।

मुुख्यमंत्री का तीन दिवसीय सिराज व नाचन दौरा स्थगित

कोरोना संक्रमण के चलते मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का 21 से 23 अप्रैल तक तीन दिवसीय सिराज व नाचन विधानसभा का दौरा स्थागित कर दिया गया है। कांगड़ा, मंडी व सिरमौर जिला उपायुक्तों के तबादले संभावित माने जा रहे थे। लेकिन, कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति को देखते हुए सरकार ने फिलहाल तबादले टाल दिए हैं। इस संबंध में मुख्य सचिव अनिल खाची ने मुख्यमंत्री को अवगत करवा दिया है।

कांगड़ा में नाइट कर्फ्यू

कांगड़ा जिले में बुधवार से रात आठ बजे से लेकर सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। शनिवार व रविवार को पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। इस समय केवल बहुत जरूरी होने पर ही आवाजाही हो सकेगी। उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि नाइट कर्फ्यू के दौरान कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं निकलेगा। केवल बीमारी की स्थिति और शादी समारोह में भाग लेने के लिए ही जा सकेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.