हिमाचल शिक्षा विभाग में 16 उपनिदेशक सहित प्रधानाचार्य व मुख्‍य अध्‍यापक के 454 पद रिक्‍त, पढ़ाई भी प्रभावित

Himachal Education Department शिक्षा विभाग में उपनिदेशकों से लेकर प्रधानाचार्य और मुख्य अध्यापकों के 470 से ज्यादा पद रिक्‍त हैं। विभाग के पास इनकी पदोन्नति के लिए विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक करना तो दूर वरिष्ठता सूची तैयार करने और एसीआर मंगवाने तक का समय नहीं है।

Rajesh Kumar SharmaSun, 01 Aug 2021 08:59 AM (IST)
शिक्षा विभाग में उपनिदेशकों से लेकर प्रधानाचार्य और मुख्य अध्यापकों के 470 से ज्यादा पद रिक्‍त हैं।

शिमला, अनिल ठाकुर। Himachal Education Department, शिक्षा विभाग में उपनिदेशकों से लेकर प्रधानाचार्य और मुख्य अध्यापकों के 470 से ज्यादा पद रिक्‍त हैं। विभाग के पास इनकी पदोन्नति के लिए विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक करना तो दूर, वरिष्ठता सूची तैयार करने और एसीआर मंगवाने तक का समय नहीं है। इसे विभाग की सुस्ती कहें या शिक्षकों के प्रति विभाग का उदासीन रवैया। इस सब का खामियाजा शिक्षकों को भुगतना पड़ रहा है। हर माह प्रधानाचार्य, मुख्य अध्यापक से लेकर शिक्षा उपनिदेशकों की सेवानिवृत्ति से खाली पदों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है।

शनिवार को 16 प्रधानाचार्य और दो उपनिदेशक सेवानिवृत्त हुए। इसके बाद स्कूलों में प्रधानाचार्यों के खाली पदों की संख्या बढ़कर 250 तक पहुंच गई है, जबकि मुख्य अध्यापकों के 204 पद खाली हैं। उपनिदेशकों के 16 पद खाली हैं। शिक्षा विभाग ने काम चलाऊ व्यवस्था के लिए अतिरिक्त कार्यभार दिया है। शिक्षकों का कहना है कि अतिरिक्त कार्यभार से उनके काम का बोझ बढ़ गया है। पदोन्नति में देरी से दो से छह हजार रुपये तक का नुकसान हर माह हो रहा है। वहीं कई शिक्षक ऐसे हैं जो बिना पदोन्नति के ही सेवानिवृत्त हो रहे हैं। प्रधानाचार्य के पद पर पदोन्नति की सूची मार्च में निकाली थी। उस समय 178 शिक्षकों को पदोन्नत किया गया था। विभाग ने लंबे समय के बाद यह पदोन्नति सूची जारी की थी, बावजूद इसके सभी खाली पदों को नहीं भरा गया। सेवानिवृत्त शिक्षा उपनिदेशक जीवन शर्मा ने कहा कि विभाग की गलती का खामियाजा शिक्षकों को भुगतना पड़ रहा है।

पदोन्नति के लिए मांगी एसीआर

अतिरिक्त शिक्षा निदेशक कालेज की ओर से सर्कुलर जारी किया गया है। इसमें शिक्षा उपनिदेशक पद पर पदोन्नति के लिए प्रधानाचार्य और मुख्य अध्यापकों की वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट (एसीआर) मांगी गई है। इसमें कहा गया है कि जल्द से जल्द एसीआर और अन्य औपचारिकताओं को पूरा कर शिक्षा निदेशालय भेजे। ईमेल से यह रिकार्ड निदेशालय को भेजने के लिए कहा है।

विभाग की देरी का खामियाजा भुगत रहे शिक्षक

प्रधानाचार्य एसोसिएशन के अध्‍यक्ष विजय गौतम ने कहा प्रधानाचार्य और मुख्य अध्यापकों सहित शिक्षा उपनिदेशकों के सैकड़ों पद खाली हैं। विभाग पदोन्नति में बेवजह देरी कर रहा है, जिससे शिक्षकों को नुकसान हो रहा है।

पदोन्नति की प्रक्रिया में तेजी लाने के दिए निर्देश : शिक्षा मंत्री  

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का कहना है शिक्षा विभाग में मुख्य अध्यापक, प्रधानाचार्य और शिक्षा उपनिदेशकों के जो पद पदोन्नति से भरे जाने हैं उसकी प्रक्रिया चली हुई है। अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इसके लिए औपचारिकताएं जल्द पूरी की जाएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.