Coronavirus: आबादी के आधार पर हिमाचल में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्‍यादा सक्रिय मामले, देखिए आंकड़ा

देवभूमि हिमाचल आबादी के आधार पर कोरोना के सक्रिय मामलों में देश में नंबर एक पर आ गया है।

Himachal Coronavirus Update देवभूमि हिमाचल आबादी के आधार पर कोरोना के सक्रिय मामलों में देश में नंबर एक पर आ गया है। शिमला एक्टिव मामलों में 28.86 फीसद पर पहुंच गया है जहां कुल 5561 मामलों में से एक्टिव केस 1605 हैं।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 12:20 PM (IST) Author: Rajesh Sharma

शिमला, जेएनएन। देवभूमि हिमाचल आबादी के आधार पर कोरोना के सक्रिय मामलों में देश में नंबर एक पर आ गया है। शिमला एक्टिव मामलों में 28.86 फीसद पर पहुंच गया है, जहां कुल 5561 मामलों में से एक्टिव केस 1605 हैं। मंडी में 21.05 एक्टिव मामले हैं। देश में 4.77 फीसद एक्टिव मामले हैं, जबकि हिमाचल में 19.20 फीसद हैं। जो देश में सबसे अधिक हैं। महाराष्ट्र में 4.64, जबकि उत्तर प्रदेश में 0.45 फीसद हैं। दिल्ली में 6.98 फीसद हैं। सक्रिय मामलों में नवंबर माह में सबसे अधिक वृद्धि हुई है। इसके साथ ही आठ माह बीतने के बाद नवंबर में कोरोना ने सारे रिकार्ड ध्वस्त कर दिए हैं। यही कारण है कि प्रदेश में कोरोना से सबसे ज्‍यादा मौतें नवंबर में ही हुई हैं। इस दौरान मात्र 21 दिनों में 200 मौतें हुई हैं, जबकि सबसे अधिक कोरोना संक्रमित और सबसे अधिक सैंपलों की जांच भी इस दौरान हुई है। शादियों व त्योहारों के दौरान शारीरिक दूरी और नियमों की धज्जियां उड़ाने और मास्क का इस्तेमाल न करने से मामलों में इजाफा हुआ है। इसके अलावा सामुदायिक संक्रमण होने से मामले बढ़े हैं।

लापरवाही व देरी से उपचार मौत का कारण

प्रदेश में कोरोना पाॅजिट‍िव के लिए निर्धारित नियमों के अनुसार लक्षण न आने पर दस दिन के बाद बिना सैंपल लिए स्वस्थ माना जाता है और उसके बाद अस्पताल व कोविड स्वास्थ्य केंद्र से छुट्टी देकर सात दिन के लिए घर में आइसोलेशन में रहने के लिए कहा जाता है, जबिक कई राज्यों में सात दिनों के बाद स्वस्थ घोषित किया जा रहा है। कोरोना से होने वाली मौतों का मुख्य कारण लोगों का उपचार के लिए देरी से आना और अन्य अस्पतालों व कोविड सेंटरों से देर से गंभीर मरीजों को स्थानांतरित किया जाना है। गांव में लोग कोरोना को कुछ भी नहीं मान रहे और नियमों का बिल्कुल भी पालन नहीं किया जा रहा है।

ज्‍यादा मामलों की यह भी वजह

अन्य राज्यों में स्वस्थ होने के लिए मात्र सात दिन निर्धारित हैं, जबकि स्वस्थ होने के लिए हिमाचल प्रदेश में 10 दिन निर्धारित हैं। इसकी वजह से स्वस्थ होने वालों की दर कम है।

शादियों व अन्य सभी कार्यक्रमों में हाल में सिर्फ अब सौ लोग

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए शादियों, अन्य आयोजनों में हाल के अंदर के लिए अब अधिकतम सौ लोगों के शामिल होने की सीमा तय कर दी है। जबकि सैंकड़ों लोग बिना मास्क के ही शामिल हो रहे थे और अब मास्क आवश्यक कर दिया है।

आवश्‍यकता हुई तो और कठोर कदम उठाए जाएंगे : मुख्‍यमंत्री

मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर का कहना है प्रदेश में कोरोना के 6.96 फीसद मामले पाए गए हैं। सक्रिय मामलों की संख्या 6662 है। कोरोना के बढ़ते मामले चिंता का विषय हैं। कोरोना को लेकर लोग गंभीर नहीं है और नियमों और शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। इसके लिए अब कड़ाई करने के निर्देश दिए गए हैं। काेरोना के मामलों के बढ़ने का कारण लापरवाही और अधिक सैंपलों की जांच भी है। आवश्यकता होगी तो और भी कठोर कदम उठाए जाएंगे। प्रदेश में अब कोरोना से जंग के लिए हिम सुरक्षा अभियान को शुरू किया जा रहा है जो 27 दिसंबर तक चलेगा। इसमें आठ हजार टीमें घर घर जाकर एक्टिव कैस फाइंडिंग के साथ जागरूक करेंगे।

प्रदेश में 1 से 21 नवंबर तक आए मामलों की स्थिति

दिनांक,नए मामले,स्वस्थ,मौत 01,205,102,08 02,334,339,10 03,334,165,08 04,433,110,11 05,444,201,06 06,430,201,04 07,575,209,06 08,674,150,06 09,711,228,07 10,611,424,12 11,610,359,09 12,765,199,06 13,825,239,13 14,322,337,08 15,383,209,11 16,443,539,09 17,584,574,12 18,661,519,13 19,796,704,12 20,745,726,11 21,758,657,18 कुल,11643,7191,200

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.