हिमाचल में खुले कोचिंग संस्थान, कोविड की नेेगेटिव रिपोर्ट पर ही मिली एंट्री, जानिए पहले दिन क्‍या रही व्‍यवस्‍था

Himachal Coaching Institute शिमला में गेट के समीप कोचिंग सेंटर पहुंचे छात्रों की थर्मल स्कैनिंग हो रही थी। रजिस्टर पर भीतर जाने वाले छात्रों के नाम पते नोट किए जा रहे थे। छात्रों से कोरोना के आरटीपीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट मांगी जा रही थी।

Rajesh Kumar SharmaMon, 26 Jul 2021 02:39 PM (IST)
हिमाचल में लंबे समय बाद कोचिंग संस्थान खुल गए हैं।

शिमला, जागरण संवाददाता। Himachal Coaching Institute, शिमला में गेट के समीप कोचिंग सेंटर पहुंचे छात्रों की थर्मल स्कैनिंग हो रही थी। रजिस्टर पर भीतर जाने वाले छात्रों के नाम पते नोट किए जा रहे थे। छात्रों से कोरोना के आरटीपीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट मांगी जा रही थी। रिपोर्ट दिखाने के बाद छात्रों को भीतर प्रवेश दिया जा रहा था। छात्रों के चहरे पर लंबे अरसे के बाद संस्थान पहुंचने की खुशी साफ दिखाई दे रही थी। यहां पहुंचकर वे अपने दोस्तों से हाचलाल पूछते हुए क्लास में जाते दिखे। सुबह 11 बजे तक महज 10 से 15 बच्चे कोचिंग लेने कक्षा में पहुंचे हुए थे। एक के बाद एक छात्रों के आने का दौर जारी था।

बारिश के कारण पहले दिन कम छात्र संस्थान पहुंचे। कुछ छात्रों को कोविड नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाने की जानकारी नहीं थी तो उन्हें टेस्ट करवाने रिपन अस्पताल भेजा जा रहा था। कोचिंग सेंटर के गेट और क्लास रूम में सैनिटाइजेशन के पूरे इंतजाम थे। क्लासरूम में छात्रों को उचित शारीरिक दूरी के साथ बिठाया गया था। सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस के बाद विद्यापीठ प्रबंधन ने कक्षाओं को सैनिटाइज करवाने का कार्य दो दिन पहले पूरा कर लिया था।

ऑनलाइन पढ़ाई जारी

विद्यापीठ के निदेशक रविंद्र अवस्थी ने बताया ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी। जो छात्र मौसम की वजह से और कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट न मिलने के कारण संस्थान नहीं आ पाए उनके लिए ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। सभी क्लासरूम को हाइटैक किया गया है जहां शिक्षक डिजिटल स्क्रीन के माध्यम से कक्षा में सामने बैठे छात्रों और ऑनलाइन जुड़े छात्रों को एकसाथ पढ़ा सकते हैं।

नेटवर्क क्लालिटी खराब तो रही खासी परेशानी

छात्रों ने बताया कि कोरोना के कारण बनी स्थितियों से कोचिंग संस्थान बंद हुए तो ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हुई। ग्रामीण क्षेत्रों में नेटवर्क खराब रहने की वजह से पढ़ाई बाधित होती रही। मौसम खराब होते ही नेटवर्क धीमा हो जाता है, इससे खासी परेशानियां झेलनी पड़ी। उन्होंने सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि शहरों के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट की सुविधा सुचारू रूप से दी जानी चाहिए ताकि ऑनलाइन पढ़ाई में किसी प्रकार की बाधा पैदा न हो।

कालेजों में आनलाइन हुई एडमिशन

कालेजों में सोमवार से एडमिशन शुरू हो गई। राजधानी के कोटशेरा, संजौली, आरकेएमवी सभी कालेजो में आन लाइन ही एडमिशन लेने के लिए छात्र छात्राओं ने आवेदन किया। राज्य सरकार के निर्देशों के बाद सोमवार से प्रवेश शुरू कर दिया है। छात्र इस बार भी सामान्य कोर्सों की बजाय प्रोफेशनल कोर्सों में ज्यादा रुचि दिखा रहे हैं. बीबीए, बीसीए, आनर्स से लेकर बीकाम में ज्यादा आवेदन आ रहे हैं. पहले दिन सभी कालेजों मे 400 से ज्यादा बच्चों ने प्रवेश लिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.