Himachal Cloudburst: मुख्‍यमंत्री कल जाएंगे लाहुल, अभी भी 10 लोग लापता, चार BRO कर्मियों का भी नहीं सुराग

Himachal Pradesh Relief Operation हिमाचल प्रदेश में आफत की बरसात जारी है। मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर कल लाहुल जाएंगे व हवाई सर्वेक्षण कर नुकसान का जायजा लेंगे। इसके अलावा उदयपुर में अधिकारियों के साथ बैठक स्थिति की समीक्षा करेंगे।

Rajesh Kumar SharmaThu, 29 Jul 2021 09:44 AM (IST)
लाहुल-स्पीति जिले के तोजिंग नाले में बादल फटने से बहे 15 लोगों में से छह अभी भी लापता हैं।

केलंग/कुल्लू, जेएनएन। Himachal Pradesh Relief Operation, हिमाचल प्रदेश में आफत की बरसात जारी है। मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर कल लाहुल जाएंगे व हवाई सर्वेक्षण कर नुकसान का जायजा लेंगे। इसके अलावा उदयपुर में अधिकारियों के साथ बैठक स्थिति की समीक्षा करेंगे। लाहुल-स्पीति जिले के तोजिंग नाले में बादल फटने से बहे 15 लोगों में से छह अभी भी लापता हैं। प्रशासन ने यहां से सात लोगों के शव ढूंढ लिए हैं, जबकि दो लोगों को जिंदा बचाया है। हालांकि अब बीआरओ की ओर से चार लोगों के लापता होने का दावा किया गया है। ये नाले में फंसे लोगों को रेस्‍क्‍यू करने में जुटे थे, इसी दौरान यह बाढ़ की चपेट में आ गए। इन्‍हें भी जोड़ लिया जाए तो लापता लोगों का आंकड़ा और बढ़ गया है।

इसके अलावा कुल्लू जिले के पार्वती नदी के सहायक नाले ब्रह्मगंगा में भारी बारिश से आई बाढ़ में मां-बेटे व उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की रहने वाली कैंपिंग साइट मैनेजर समेत बहे चार लोगों का अभी भी कोई सुराग नहीं है। ब्रह्मगंगा नाला में बहे चार लोगों का सुराग नहीं लग पाया है। लापता लोगों की तलाश में दोनों जिलों के प्रशासन ने बचाव अभियान चलाया है। बारिश व नदी-नालों में पानी का तेज बहाव इसमें बाधा बन रहा है।

तोजिंग नाले में मंगलवार देर शाम बादल फटने से आई बाढ़ में कई वाहन चपेट में आ गए थे। मंडी जिले के टकोली से चंबा के पांगी एक वाहन में जा रहे नौ लोग भी बाढ़ की चपेट में आ गए थे। तीन लोगों ने भाग कर जान बचा ली थी। छह लोग पानी की चपेट में आने से बह गए। सीमा सड़क संगठन के कनिष्ठ अभियंता व दो मजदूरों समेत नौ अन्य लोग भी मलबे की चपेट में आकर बह गए। सूचना मिलते ही राहत एवं बचाव दल ने रात को दो लोगों का बचा लिया। अन्य लापता लोगों की तलाश में पुलिस व भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) ने सर्च अभियान चलाया है। राष्ट्रीय आपदा मोचन दल (एनडीआरएफ) की टीम मंडी जिले के पद्धर से दोपहर बाद लाहुल पहुंची। सात शवों में से छह की शिनाख्त हो गई है। इनमें से चार लोग मंडी जिले के टकोली व दो जम्मू कश्मीर के रहने वाले हैैं।

कुल्लू जिले की पार्वती घाटी के ब्रह्मगंगा नाले में आई बाढ़ में कैंपिंग साइट मैनेजर विनीता चौधरी उर्फ विन्नी पुत्री विनोद डागर निवासी निस्तौली नजदीक टिल्ला मोड़, लोनी रोड गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश), पूनम पत्नी रोहित कुमार, निकुंज पुत्र रोहित कुमार निवासी ब्रह्मगंगा (मणिकर्ण, कुल्लू), वीरेंद्र पुत्र तीर्थ राम निवासी शांगना मणिकर्ण भी लापता है। वीरेंद्र पनविद्युत प्रोजेक्ट में काम करता है। कैंपिंग साइट के मालिक अर्जुन की हादसे में बाल बाल जान बची है। करीब 12 टेंट बाढ़ की भेंट चढ़ गए।

तोजिंग नाले में इनकी हुई मौत

शेर सिंह पुत्र गोला राम, रूम सिंह पुत्र कृष्ण कुमार, मेहर चंद पुत्र लुहारू, निरत राम पुत्र तुआरसु निवासी टकोली जिला मंडी व मोहम्मद शरीफ पुत्र लाल दिन और मोहम्मद आजम पुत्र शब्बीर अहमद गांव कुंदरधान डाकघर घोटा जिला रियासी जम्मू-कश्मीर के रूप में हुई है। एक शव आधा ही मिला है। दो लोगों की पहचान नहीं हो पाई है।

ये हुए हैं घायल

मोहन सिंह पुत्र लाल चंद छटिंग उदयपुर (लाहुल-स्पीति), मोहमद अल्ताफ पुत्र नाजिर अहमद गांव कुंदर थार जम्मू-कश्मीर।

कई जगह फंसे पर्यटक, प्रशासन ने जारी की एडवायजरी

लाहुल-स्पीति जिले में बादल फटने से कई नालों में बाढ़ आ गई है। इससे लेह व काजा मार्ग पर सैकड़ों पर्यटक फंस गए हैं। प्रशासन ने पर्यटकों व वाहन चालकों के लिए एडवाइजरी जारी कर यात्रा न करने की सलाह दी है। मनाली-लेह, तांदी-किलाड़ व ग्रांफू-समदो मार्ग जगह-जगह बंद हैं। मनाली-लेह मार्ग पर साकस नाले सहित जिंगजिंगबार, पटसेउ, भरतपुर सिटी व सरचू में सड़क बंद हो गई है। तांदी-संसारी मार्ग भी तोजिंग, शांशा, जाहलमा सहित उदयपुर से किलाड़ तक जगह-जगह बंद है।

बरसात में भारी नुकसान

बारिश व भूस्खलन के कारण प्रदेश में 387 सड़कें अवरुद्ध हुई शिमला जिले के गुम्मा में बादल फटने से पुल व चार गाडिय़ां बही, गांव का संपर्क टूटा चंबा जिले के पांगी उपमंडल के हिलुटवां में बादल फटने से फसलें तबाह चंबा के चनेड में बहे जेसीबी हेल्पर का शव मिला, किन्नौर जिले के रकछम में बादल फटा, जानी नुकसान नहीं कालका-शिमला रेलवे लाइन पर पेड़ गिरने से दो घंटे तक यातायात बाधित रहा मंडी जिला के चार मील के पास मनाली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग भूस्खलन आने से दो बार अवरुद्ध हुआ भूस्खलन के कारण कालका-कसौली सड़क पर यातायात बाधित कांगड़ा जिले के इंदौरा में नाले का बहाव बदलने से कई घरों में घुसा पानी नूरपुर से चंबा जा रही कार पर मलबा गिरा, शिमला शहर के विकासनगर में चट्टान के नीचे दबी कार

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.