हिमाचल में विद्यार्थियों की पढ़ाई के लिए जियो टीवी लांच, क्लास मिस होने की टेंशन खत्म; पढ़ें पूरा मामला

राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे अब जियो टीवी के माध्यम से पढाई कर सकेंगे।
Publish Date:Wed, 28 Oct 2020 02:57 PM (IST) Author: Rajesh Sharma

शिमला, जागरण संवाददाता। राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे अब जियो टीवी के माध्यम से पढाई कर सकेंगे। शिक्षा विभाग ने बच्चों की सुविधा के लिए तीन चैनल लांच कर दिए हैं। कक्षा पहली से 12वीं और वोकेशनल विषयों के लिए ये तीन चैनल लांच किए गए हैं। अगले महीने दो और चैनल लांच किए जाएंगे। इसमें डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन (डीएलएड) और दूसरा शिक्षा विभाग की ओर से चलाए जाने वाले अन्य कार्यक्रमों के लिए होगा। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने बुधवार को राज्य सचिवालय में इन चैनल को लांच किया।

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा 16 अप्रैल से बच्चों को आनलाइन माध्यम से पढ़ाया जा रहा है। वाट्सएप के माध्यम से (प्री नर्सरी से 12वीं कक्षा तक) हर घर पाठशाला कार्यक्रम और 17 अप्रैल से कक्षा 10 व 12 वीं के विद्यार्थियों के लिए ज्ञानशाला कार्यक्रम दूरदर्शन शिमला के माध्यम से शुरू किया था। यह दोनों कार्यक्रम अभी तक सुचारू रूप से चल रहे हैं। उन्होंने बताया हर घर पाठशाला कार्यक्रम को प्रदेश के करीब 200 अध्यापक (स्टेट रिसोर्स ग्रुप) अपना आनलाइन ई कंटेंट बनाकर प्रतिदिन बच्चों तक पहुंचा रहे हैं।

शिक्षा मंत्री ने प्रदेश के सभी अभिवावकों, विद्यार्थिओं और अध्यापकों विशेषकर स्टेट रिसोर्स ग्रुप के साथियों का इस अवसर पर हार्दिक धन्यवाद किया। इस अवसर पर सचिव शिक्षा राजीव शर्मा, राज्य परियोजना निदेशक (समग्र शिक्षा) आशीष कोहली और जिओ टीवी से रोहित पुरी व नितिन श्रीवास्तव उपस्थित रहे।

क्लास मिस हुई तो नहीं होगी टेंशन

जियाे टीवी से पढ़ाई करवाने के बच्चों को कई फायदे हैं। यदि बच्चे किसी कारणवश क्लास अटेंड नहीं कर पाते हैं तो उन्हें इसकी टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। दिन में किसी भी समय या फिर सप्ताह तक लाइव क्लास लगा सकेंगे। बैकअप में पूरा ई कंटेंट दिन के हिसाब से मौजूद रहेगा। हर विषय का यह ई कंटेंट होगा। इस सुविधा को वीडियो ऑन डिमांड में परिवर्तित करने पर समग्र शिक्षा, हिमाचल प्रदेश जिओ टीवी के माध्यम शीघ्र ही उपलब्ध करवाने जा रहा है। विभाग ने सुनिश्चित किया है कि जियो टीवी और हर घर पाठशाला में एक ही ई-कंटेंट विद्यार्थिओं के लिए उपलबध रहे। इससे बच्चे किसी भी माध्यम से (चाहे वाट्सएप से, चाहे दूरदर्शन से, या चाहे जिओ टीवी से) अपनी पठन-पाठन की प्रक्रिया को निरंतर समानता और अपनी सहूलियत से चला सकते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.