गौ अभयारण्य तैयार, उद्घाटन का इंतजार

प्रवीण कुमार शर्मा ज्वालामुखी उपमंडल ज्वालामुखी समेत जिले के अन्य क्षेत्रों में बेसहारा पशुओं की समस्या से निजात दिलाने के लिए बनाया गया गौ अभयारण्य तैयार हो चुका है लेकिन उद्घाटन न होने से किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। लुथान पंचायत में 450 कनाल भूमि पर पशुपालन विभाग ने गौ अभयारण्य बनाया है। उद्घाटन होने से बेसहारा पशुओं को आश्रय मिलेगा और किसानों को समस्या से निजात मिलेगी।

JagranWed, 01 Dec 2021 06:00 AM (IST)
गौ अभयारण्य तैयार, उद्घाटन का इंतजार

प्रवीण कुमार शर्मा, ज्वालामुखी

उपमंडल ज्वालामुखी समेत जिले के अन्य क्षेत्रों में बेसहारा पशुओं की समस्या से निजात दिलाने के लिए बनाया गया गौ अभयारण्य तैयार हो चुका है लेकिन उद्घाटन न होने से किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। लुथान पंचायत में 450 कनाल भूमि पर पशुपालन विभाग ने गौ अभयारण्य बनाया है। उद्घाटन होने से बेसहारा पशुओं को आश्रय मिलेगा और किसानों को समस्या से निजात मिलेगी।

गौ अभयारण्य में 1500 पशुओं को एक साथ रखा जा सकेगा। पशुओं के चारे के लिए उचित व्यवस्था की है व बैठने के लिए बेहतर कैबिन बनाए हैं। पानी व सूखे चारे के लिए बेहतर व्यवस्था की है।

..

मुख्यमंत्री से गौ अभयारण्य का उद्घाटन करवाया जाएगा। जब तक लोकार्पण नहीं हो जाता तब तक मैंने पंचायतों को निर्देश दिए हैं कि बेसहारा पशुओं को गौ अभयारण्य पहुंचा दिया जाए।

-रमेश धवाला, विधायक ज्वालामुखी।

.

गौ अभयारण्य का कार्य पूरा हो चुका है। जिले में पांच अन्य जगह भी कार्य प्रगति पर है। इससे किसानों का नुकसान रुकेगा और सड़क हादसे भी कम होंगे। सुखद यह है कि पशुधन को साफ-सुथरा आश्रय मिलेगा।

संजीव धीमान, उपनिदेशक पशुपालन विभाग।

..

लोगों को इजाजत दे दी है कि वे गौ अभयारण्य में बेसहारा पशुओं को ले जाने के लिए स्वतंत्र हैं। जल्द मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से इसका उद्घाटन करवाया जाएगा।

-मनोज ठाकुर, एसडीएम ज्वालामुखी।

.

गौ अभयारण्य जल्द से जल्द शुरू होना चाहिए। इससे पहले कि बेसहारा पशु फसलों को उजाड़ें, इस बाबत कदम उठाया जाए।

-विजेंद्र कुमार, जिप सदस्य।

.

विधायक से गौ अभयारण्य को चालू करने की मांग की थी। आश्वासन मिला है उद्घाटन से पहले ही लोग पशुओं को यहां ले जा सकते हैं। विभाग लोगों के साथ सहयोग करे।

-बिठुल, प्रधान पंचायत अधवाणी

.

गौ अभयारण्य को शुरू करने के लिए प्रशासनिक पहल होनी चाहिए। इसे गंभीरता से लेते हुए सड़क और खेतों में घूम रहे पशुओं को यहां पहुंचाना चाहिए।

-शुभम कपूर।

..

करोड़ों रुपये खर्च कर गौ अभयारण्य बनाया है। फसलों को बचाने के लिए पशुओं को पकड़कर यहां पहुंचाने में प्रशासन व विभाग सहयोग करे।

-दीपक राणा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.