जल्द बने एफएसटीपी, मर्ज क्षेत्रों का दूर हो दर्द

संवाद सहयोगी धर्मशाला धर्मशाला शहर की स्वच्छता रैंकिग को भविष्य में और बेहतर बनाने के

JagranTue, 23 Nov 2021 03:03 AM (IST)
जल्द बने एफएसटीपी, मर्ज क्षेत्रों का दूर हो दर्द

संवाद सहयोगी, धर्मशाला : धर्मशाला शहर की स्वच्छता रैंकिग को भविष्य में और बेहतर बनाने के लिए कई कदम उठाने की जरूरत है। बेशक सकोह में फीकल स्लज ट्रीटमेंट प्लांट (एफएसटीपी) का निर्माण मर्ज क्षेत्रों के सेप्टिक टैंकों को खाली करने के लिए किया जा रहा है। यह कार्य जल्द से जल्द पूरा होना चाहिए।

साथ ही मर्ज क्षेत्रों में सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण होना चाहिए जिससे कि दुकानदारो व ग्राहकों को सुविधा मिल सके। धर्मशाला को नगर निगम बनाने के बाद सकोह, रामनगर, शामनगर, बड़ोल, दाड़ी, कंड, खनियारा, सिद्धपुर व सिद्धबाड़ी को शहर का हिस्सा तो बना दिया है, लेकिन अभी तक सार्वजनिक शौचालय व सीवरेज की सुविधा नहीं है। हालांकि सकोह में एफएसटीपी प्रस्तावित है लेकिन सार्वजनिक शौचालय नहीं है। इसके अलावा भूमिगत कूड़ादानों की सफाई व्यवस्था पुख्ता बनाने की जरूरत है। हालांकि कचरा कूड़ादानों तक न पहुंचे, इसके लिए दोहरी सफाई व्यवस्था की गई है। पिछले काफी समय से भूमिगत कूड़ादानों की सफाई नहीं हो पा रही है और इस पर आमसभा में पार्षदों ने आवाज बुलंद की थी। अगर इन समस्याओं का निपटारा हो जाता है और सर्वेक्षण में ज्यादा से ज्यादा शहरी भाग लेते हैं तो भविष्य में शहर की स्वच्छता रैंकिंग सुधारी जा सकती है।

..

सकोह में एफएसटीपी बनाने का फैसला सराहनीय है लेकिन कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए। शहर की सफाई व्यवस्था पहले से ज्यादा पुख्ता हुई है।

-अधिकाश डोगरा।

..

भूमिगत कूड़ादानों की सफाई पुख्ता होनी चाहिए। जन चेतना पहले ही बस स्टाप पर सार्वजनिक शौचालय बनाने की मांग उठा चुकी है। मर्ज क्षेत्रों में भी सुविधा मिलनी चाहिए।

-एसएस बैंस

..

नगर निगम में मर्ज हुए क्षेत्रों में सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण किया जाना चाहिए। इसके अलावा अन्य मूलभूत सुविधाएं भी मिलनी चाहिए।

-बाबा मोनू।

..

सीवरेज जल्द से जल्द बननी चाहिए और सार्वजनिक शौचालयों का भी निर्माण होना चाहिए। शहर की स्वच्छता रैंकिग में सुधार के लिए यह जरूरी है।

-उमेश नाथ

..

मैं भी स्वच्छता प्रहरी

प्रकृति ने शहर को पहले ही सुंदर बनाया है। इसकी सुंदरता बरकरार रहे, इसके लिए मैं लोगों को कचरा खुले में न फेंककर कूड़ादानों में फेंकने के लिए प्रोत्साहित करूंगा। आसपास की सफाई के लिए भी लोगों को जागरूक करूंगा, ताकि सफाई व्यवस्था बेहतर बनी रहे। निगम के पार्षदों और कर्मचारियों का भी सहयोग करूंगा ताकि हमारा शहर स्वच्छ बने और समाज को बेहतर संदेश मिले।

-रजनीश रंजू।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.