कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्‍सीन के साथ एहतियात भी जरूरी, जानिए विशेषज्ञों की सलाह

Dr Suggestions On Coronavirus सरकार की ओर से जारी कोरोना रोधी वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और प्रभावी भी है। आइजीएमसी शिमला के च‍िकित्‍सा अधीक्षक डॉक्टर जनकराज ने कहा आइजीएमसी में अभी तक जिन मरीजों की मौत हुई है उनमें वैक्सीन लगा चुके मरीज शामिल नहीं हैं।

Rajesh Kumar SharmaTue, 22 Jun 2021 07:10 AM (IST)
सरकार की ओर से जारी कोरोना रोधी वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और प्रभावी भी है

शिमला, जेएनएन। Dr Suggestions On Coronavirus, सरकार की ओर से जारी कोरोना रोधी वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और प्रभावी भी है। आइजीएमसी शिमला के च‍िकित्‍सा अधीक्षक डॉक्टर जनकराज ने कहा आइजीएमसी में अभी तक जिन मरीजों की मौत हुई है उनमें वैक्सीन लगा चुके मरीज शामिल नहीं हैं। वैक्सीन मरीज को हॉस्पिटलाइज्ड होने से बचाती है। वहीं कुछ लोग इंटरनेट मीडिया पर चल रही अफवाहों पर ध्यान देकर गलत दवाईयां न लें। ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। कोरोना से बचाव के लिए लक्षण आने पर सबसे पहले टेस्ट करवाएं और डॉक्टर की सलाह पर ही दवाई लें। कोरोना वायरस को मात देने के लिए वैक्सीन लगवाने के साथ जरूरी है एहतियात।

लापरवाही और नियमों के उल्लंघन से कोरोना की यह समस्या और बढ़ती जाएगी। लापरवाही का खतरा कमजोर, बुजुर्ग व बीमार व्यक्ति को सबसे अधिक है। ऐसे में पूरी एहतियात बरतें और शारीरिक दूरी का पालन हर हाल में करें। कहीं से भी घर आएं तो तुरंत नहा लें या हाथ मुंह अच्छी तरह धोएं। हो सके तो कपड़ों को भी धोएं। जब आप किराने का सामान खरीदें तो सबसे पहले तो डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों की बाहरी परत को जरूर पोछें। उसके बाद तुरंत हाथ धोएं। सब्जियां और फल आप धोते ही हैं।

इस समय थोड़ा और बेहतर तरीके से धोएं। यदि आपको संदेह है कि आप बीमार हैं तो घर में भी सबके साथ न रहें। अगर आपको पहले से कोई बीमारी है, शुगर, दिल से जुड़ी बीमारी, स्ट्रोक या सांस से जुड़ी बीमारी है तो फ्लू जैसे लक्षणों को भी हल्के में न लें और तुरंत डाक्टर से संपर्क करें।

तुलसी, अदरक, काली मिर्च, दालचीनी व लौंग का काढ़ा पीएं

आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी सलोह अस्पताल डा. मोनिका ने कहा कोरोना काल में अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूर करना चाहिए। आयुष च्यवनप्राश जरूर खाएं। सुबह खुली हवा में प्राणायाम करें। तुलसी, अदरक, काली मिर्च, दालचीनी व लौंग का काढ़ा रीएं। गले में खराश होने की सूरत में दिन में दो बार लौंग व मुलहठी पाउडर शहद के साथ लें। सादे पानी में दालचीनी के टुकड़े डालकर दिन में दो बार भाप लें। भाप लेते समय नाक से लंबे सांस खीचें व मुंह से छोड़ेें। विटामिन सी के लिए नींबू और आंवला का सेवन करें। तुलसी रस की बूंदों को पानी में डालकर पीएं। चुटकी भर फिटकरी पानी में डालकर सुबह गरारे करें। रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने के लिए प्रोटीनयुक्त आहार लें। जंक फूड और ठंडे पेय पदार्थों का सेवन करने से परहेज करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.