श्रीबज्रेश्‍वरी देवी के भक्‍त ने चार किलो सोने और 30 किलो चांदी से सुशोभित क्रिया माता का सिंहासन

माता श्री बज्रेश्वरी देवी के एक भक्त ने माता के सिंहासन को सोने चांदी से सुशोभित किया है।

Bajreshwari Devi Temple चैत्र नवरात्र के छठे दिन रविवार को माता श्री बज्रेश्वरी देवी के एक भक्त ने माता के सिंहासन को सोने चांदी से सुशोभित किया है। माता रानी के सिंहासन में प्रथम पुज्य गणेश जी की प्रतिमा के अलावा सूर्य देवता भी सुशोभित किए गए हैं।

Rajesh Kumar SharmaSun, 18 Apr 2021 02:12 PM (IST)

कांगड़ा, बिमल बस्सी। Bajreshwari Devi Temple, चैत्र नवरात्र के छठे दिन रविवार को माता श्री बज्रेश्वरी देवी के एक भक्त ने माता के सिंहासन को सोने चांदी से सुशोभित किया है। माता रानी के सिंहासन में प्रथम पुज्य गणेश जी की प्रतिमा के अलावा सूर्य देवता भी सुशोभित किए गए हैं। सोने का सिंहासन दान करने वाले भक्त ने मातारानी की रात्रि शैया के लिए चांदी जड़ित पलंग भी देवी चरणों में अर्पित किया है।

गौर योग्य है कि नवरात्र के दौरान देवी को अर्पित करने के लिए तैयार किए जाने वाले सिंहासन तथा चांदी के पलंग को अंबाला के प्रसिद्ध आरके ज्वेलर्स से जुड़े मुख्य स्वर्ण कारीगर बिल्लू वर्मा तथा उनके सहयोगी अमन सोनी, हिमांशु वर्मा और प्रवीण वर्मा ने एक माह की दिन-रात की कड़ी मेहनत के बाद तैयार किया है। इसके लिए मंदिर प्रशासन की तरफ से कड़ी सुरक्षा में एक विशेष कमरा उक्त कार्य को सपंन्न करने के लिए दिया गया था।

मंदिर के वरिष्ठ पुजारी राम प्रशाद शर्मा ने बताया माता बज्रेश्वरी देवी में गहरी आस्था रखने वाले एक श्रद्धालु ने उपरोक्त सोने चांदी से सुसज्जित सिंहासन को मां के चरणों में भेंट किया हैै। इस कार्य में लगभग चार किलो सोना तथा 30 किलो चांदी का इस्तेमाल किया गया है।

सिंहासन भेंट करने वाले दानी सज्जन हर वर्ष मकर संक्रांति के अवसर पर 20 टीन देसी घी भी देवी के चरणों में भेंट करते है। देवी सिंहासन के शोभायमान होते ही देखने के लिए दर्शानार्थियों की भीड़ उमड़ना शुरू हो गई थी। वहीं मंदिर अधिकारी दलजीत शर्मा ने बताया मंदिर परिसर में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। मंदिर में श्रद्धालुओं में शारीरिक दूरी का ध्यान रखा जा रहा है।

चैत्र नवरात्र के छठे दिन चामुंडा में उमड़ा जनसैलाब

योल। चैत्र‌ नवरात्र के छठे दिन श्री चामुंडा नंदिकेश्वर धाम मंदिर में काफी संख्या में जन सैलाब उमड़ा। सुबह पांच बजे मंदिर खुलते ही अन्य राज्यों के श्रद्धालु मां के दर नतमस्तक होने शुरू हो गए। दोपहर तक दो हजार के करीब श्रद्धालु मां का आशीर्वाद प्राप्त कर चुके थे। मंदिर अधिकारी अपूर्व शर्मा ने बताया मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग और पंजीकरण के बाद ही गर्भ गृह में प्रवेश करवाया जा रहा है। पिछले दिनों सैलाब में भारी कमी रही अब आने वाले दिनों में आस्था के सैलाब में बढ़ोतरी की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें: रोहतांग व बारालाचा दर्रे में तीन फीट तक हिमपात, मनाली-लेह मार्ग पर फंसे सैकड़ों वाहन, पर्यटकों की चांदी

यह भी पढ़ें: Himachal Weather Update: दो दिन बाद फ‍िर सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, बारिश-हिमपात से तापमान में भारी गिरावट

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.