देहरा में कंट्रोल रूम के माध्यम से 2500 लोगों तक पहुंचा प्रशासन, दिन-रात साधा कोरोना पीड़ितों से संपर्क

Dehra Administration Control Room एसडीएम कार्यालय देहरा में कोविड से निपटपने के लिए जिला प्रशासन के निर्देशानुसार कंट्रोल रूम की स्थापना की गई। इस दौरान उपमंडल प्रशासन की ओर से 24 कर्मचारियों ने दिन-रात इस कंट्रोल रूम के माध्यम से लोगों से संपर्क साधा।

Rajesh Kumar SharmaSun, 13 Jun 2021 03:28 PM (IST)
एसडीएम कार्यालय देहरा में कोविड से निपटपने के लिए जिला प्रशासन के निर्देशानुसार कंट्रोल रूम की स्थापना की गई।

देहरा, संवाद सहयोगी। Dehra Administration Control Room, कोरोना की दूसरी लहर ने जहां सबको एक भय और निराशा की स्थिति में डाल दिया था, वहीं देहरा उपमंडल में प्रशासन सबको हिम्मत देकर सहायता देने का कार्य निरंतर करता रहा। 14 अप्रैल 2021 को एसडीएम कार्यालय देहरा में कोविड से निपटपने के लिए जिला प्रशासन के निर्देशानुसार कंट्रोल रूम की स्थापना की गई। इस दौरान उपमंडल प्रशासन की ओर से 24 कर्मचारियों ने दिन-रात इस कंट्रोल रूम के माध्यम से लोगों से संपर्क साधा। इस दौरान कंट्रोल रूम ने 24 घंटे खुला रहकर एक फोन काॅल पर ही कार्रवाई करने का काम किया।

एसडीएम देहरा धनबीर ठाकुर ने बताया कि कि संकट बड़ा था लेकिन कंट्रोल रूम के माध्यम से कभी ऐसा समय नहीं आया कि स्थिती को नियंत्रित न किया जा सके। उन्होंने बताया कि इस दौरान देहरा उपमंडल में लगभग 2500 लोग कोरोना से संक्रमित हुए। जिनमें से एक व्यक्ति को धर्मशाला अस्पताल और पांच को टांडा मेडिकल अस्वताल उपचार के लिए भर्ती करवाया गया। उन्होंने बताया कि कुल संक्रमितों में से 1900 के करीब लोग अब पूर्ण रूप से स्वस्थ हो गए हैं और करीब 550 लोग आज भी होम आईसोलेशन में स्वास्थ लाभ ले रहे हैं। एसडीएम बताते हैं कि उपमंडल में इस दौरान करीब करीब 38 लोगों की दुःखद मृत्यु भी हुई।

इस दौरान एसडीएम कार्यालय में स्थापित कंट्रोल रूम द्वारा सभी 2500 संक्रमितों से संपर्क साधा गया। उन्होंने बताया कि प्रत्येक संक्रमित से 3 से 4 बार संपर्क करके उनके स्वास्थ का पूरा ब्योरा कंट्रोल रूम में संकलित किया जाता रहा। वहीं संक्रमितों से बात करके उनके उपचार में आ रही किसी प्रकार की दिक्कत या अन्य किसी प्रकार की आवश्यकता के बारे में भी जानकारी ली गई। तदोपरांत फील्ड में तैनात अधिकारीयों, कर्मचारीयों व स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करके घर-घर जाकर लोगों को जरूरत की चीजें उपलब्ध करवाई गई। संक्रमितों के अलावा भी कंट्रोल रूम के माध्यम से उपमंडल में किसी भी जरूरतमंद को इस दौरान एक फोन काॅल पर ही आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई।

एसडीएम ने कहा कि इस दौरान उपमंडल में सेवाएं दे रहे सभी तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों, बीडीओ और उनके स्टाफ ने प्रतिदिन घर-घर जाकर संक्रमितों का हाल जाना, उनका हौसला बढ़ाया और जरूरी वस्तुएं उपलब्ध करवाई।

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त ई-पास के लिए भी लोगों को 24 घंटे सुविधा उपलब्ध करवाई गई, जिसके तहत अब तक लगभग 1750 पास देहरा कंट्रोल रूम द्वारा जारी किए गए हैं। एसडीएम ने कहा कि इस दौरान प्रशासन ने समाज के साथ हर समय खड़े रहकर अपना शत प्रतिशत देने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए आगे भी समाज से पूर्ण सहयोग की अपेक्षा है। समज के लेाग अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए कोरोना उपयुक्त व्यवहार अपनाएं, प्रशासन आगे भी लोगों को संकट से बाहर निकालने के लिए इस प्रकार दिन-रात प्रयासरत रहेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.