मुख्‍यमंत्री बोले, हिमाचल में व्‍यापारी कल्‍याण कोष की होगी स्‍थापना, मार्केट फीस का होगा सरलीकरण

प्रदेश व्‍यापार मंडल की बैठक में मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर।

Traders Meeting With CM प्रदेश व्‍यापार मंडल की बैठक में मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा धरना प्रदर्शन किसी समस्या का हल नहीं है संवाद ही एकमात्र रास्ता है। कोरोना काल मे व्यापरियों का सहयोग सराहनीय रहा है। लॉकडाउन में राशन सब्जी की होम डिलीवरी कर व्यापरियों ने अच्छा काम किया।

Rajesh Kumar SharmaMon, 22 Feb 2021 01:29 PM (IST)

मंडी, जेएनएन। प्रदेश व्‍यापार मंडल की बैठक में मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा धरना प्रदर्शन किसी समस्या का हल नहीं है, संवाद ही एकमात्र रास्ता है। कोरोना काल मे व्यापरियों का सहयोग सराहनीय रहा है। लॉकडाउन में राशन सब्जी की होम डिलीवरी कर व्यापरियों ने अच्छा काम किया। कोविड काल में अगर सप्लाई चेन पर ध्यान केंद्रित नहीं किया होता तो प्रदेश में राशन की किल्लत आ सकती थी। इसमें गृह मंत्री अमित शाह का पूरा सहयोग मिला। व्यापारियों की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार होगा, मिल बैठ कर समाधान निकालेंगे। सीएम ने कहा जीएसटी में कोई खोट नहीं, खामियों का सरकार सरलीकरण कर रही है। कृषि कानून को लेकर विपक्ष राजनीति कर रहा है। ये कानून किसानों के हित में हैं। सीएम ने कहा मार्केट फीस का सरलीकरण होगा, सरकार व्यापरियों को राहत देगी।

हिमाचल में निवेश के लिए अनुकूल वातावरण है। 13500 करोड़ की ग्राउंड ब्रेकिंग हो चुकी है। कोविड नहीं आता तो इन्वेस्टर्स मीट के सार्थक परिणाम मिलते।  जिन पुराने कानून का कोई महत्व नहीं व्यापारी हित में सरकार उन्हें खत्म करेगी। जल्द व्यापारी कल्याण कोष की स्थापना होगी। देश व प्रदेश की आर्थिकी में व्यापरियों का अहम योगदान है।

सीएम ने कहा मंडी अब बड़ा शहर है। लोग दलगत राजनीति से ऊपर उठकर नगर निगम चुनाव में सहयोग करें। सीएम ने कहा उन्‍होंने मंडी को नगर निगम का दर्जा दिया, अब जीत के रूप में चाहिए। मंडी में शिवधाम से पर्यटन बढ़ेगा। 27 फरवरी को शिव धाम, अनाज  मंडी व यू ब्लॉक पार्किंग का शिलान्यास किया जाएगा। एफसीए से 650 विकास कार्यों पर विराम लगा था, सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली।

सीएम ने कहा स्वर्णिम हिमाचल में कई आयोजन होंगे, व्यापारी भी सहयोग करें। प्रदेश में 51 कार्यक्रमों का आयोजन होगा। युवा वर्ग को ओल्ड हिमाचल से अवगत करवाया जाएगा। मुख्‍यमंत्री ने कहा वह स्कूल आने-जाने के लिए 18 किलोमीटर पैदल सफर करते थे। लेकिन आज बच्चे यह बात मानने को तैयार नहीं हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.