कुशल नेतृत्व के प्रतीक हैं मुख्यमंत्री जयराम: नैहरिया

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व के कारण कुछ ही समय में काबू पा लिया गया है। धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि सीएम ने हालातों पर हर दिन नज़र बनाकर अभी से ही संभावित तीसरी लहर के लिए भी पहाड़ी राज्य ने काम शुरू कर दिया है।

Richa RanaSat, 12 Jun 2021 11:28 AM (IST)
मुख्‍यमंत्री ने तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ बनाने पर काम शुरू कर दिया है।

धर्मशाला, जागरण संवाददाता। देश भर सहित देवभूमि हिमाचल प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के कारण बिगड़ रहे हालातों पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व के कारण कुछ ही समय में काबू पा लिया गया है। धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि सीएम ने हालातों पर हर दिन नज़र बनाकर अभी से ही संभावित तीसरी लहर के लिए भी पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ बनाने पर काम शुरू कर दिया है। जिसमें शुरूआती दौर में ही प्रदेश में बच्चों के लिए विशेष रूप से एक सौ वेंटिलेटर का प्रबंध करने के दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर से निपटने में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। सीएम ने इस मुश्किल हालात के बीच स्वास्थ्य सुविधाओं को पूरी तरह से सुदृढ़ किया, और हर व्यक्ति को बेहतरीन स्वास्थय सुविधाएं प्रदान की गई हैं। इतना ही नहीं ऐसे बिगड़े हालातों में सबसे पहले खुद जिम्मा संभालते हुए हर वर्ग के साथ मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर खड़े हैं। उन्होंने प्रदेश में गंभीर होते हुए हालातों को भांपते हुए दूसरी लहर के अधिक प्रकोप से पहले ही हर जिला में पहुंच खुद पहुंचकर जिम्मा संभाला, और स्वास्थय सुविधाओं में बड़े स्तर पर कार्य किया। हर जिला में अतिरिक्त बेड, ऑक्सीजन प्लांट, ऑक्सीजन की हर बेड में व्यवस्था, आईसीयू व वेंटिलेटर बेड की क्षमता बढ़ाने सहित स्वास्थय उपकरणों में अप्रत्याशित प्रग्रति की गई।

जिला कांगड़ा में ही परौर में 250 बेड व इसकी क्षमता जरूरत पर एक हजार करने का प्रावधान संग जिला भर में एक हजार अतिरिक्त बेड शुरू किए गए। जिससे छोटा राज्य होने के बाबजूद अधिक केस होने पर भी हिमाचल में एक भी मरीज को बिना बेड व ऑक्सीजन के नहीं रहना पड़ा। विशाल नैहरिया ने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर ने अपने कुशल नेतृत्व से प्रदेश के सभी प्रशासनिक अधिकारियों, स्वास्थय अधिकारियों, पुलिस विभाग कोविड-19 से बचाव व राहत से जुड़े हर विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों के अलावा नगर निकायों, पंचायत प्रतिनिधियों के संग ज़मीनी स्तर पर कार्य करने वाले आशा वर्कर से भी खुद संपर्क में रहे, और हर दिन की फिडबैक व जरूरी दिशा-निर्देश भी जारी किए। विधायक ने कहा कि जिस समय प्रदेश में 40 हज़ार कोरोना एक्टिव केस पहुंच चुके थे, सीएम ने हर विधानसभा के प्रतिनिधि की जिम्मेदारी तय करते हुए कोरोना संजीवनी किट का आगाज किया। ऐसे में सरकार ने हर घर में पहुंचकर कोरोना पिडि़त लोगों को स्वस्थ करके समाज की मुख्य धारा से जोड़कर स्वस्थ समाज बनाने में अहम भूमिका निभाई।

धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर ने कोरोना से बिगड़ चुके हालातों से उभारने के साथ-साथ स्वास्थय संग आर्थिकी मजबूती पर विशेष योजनाबद्ध तरीके से कार्य किया। उन्होंने सभी वर्गों के साथ जिसमें पर्यटन कारोबारी, व्यापारी वर्ग, फार्मास्टूकिल, इंडस्ट्री सहित सभी आर्थिक गतिविधियों को मजबूत करने वाले लोगों से वर्चुअल व मिलकर भी संपर्क साधा। सभी वर्गोंे को साथ लेकर कोरोना की स्थिति पर काबू पाने के साथ ही आर्थिक गतिविधियों का भी सामंजस्य के साथ संचालन करवाने में कामयाब रहे। इसका नतीजा 15 दिनों में ही देखने को मिला, कि कोविड केसों में भी निरंतर कमी आ रही है, साथ ही पहाड़ी राज्य हिमाचल की आर्थिक गतिविधियां भी सूचारू रूप से पटरी पर लौटना शुरू हो गई हैं। विधायक ने कहा कि इसमें यह भी महत्वपूर्ण है कि सीएम ने राज्य के छात्रों के हितों व भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें आगामी कक्षाओं में प्रमोट करने की बजाय निर्धारित मापंदडों के तहत रिजल्ट प्रदान करने की रणनीति बनाई। साथ ही अब सरकार जरूरतमंद छात्रों को निशुल्क डिजिटल उपकरण उपलब्ध करवाने के लिए भी प्रयास कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.