धर्मशाला कचहरी चौक के पास बीच सड़क सीमेंट से भरा ट्रक हुआ खराब, बनी यातायात जाम की स्‍थ‍िति

Kachahri Chowk Dharamshala धर्मशाला कचहरी मार्ग में बीच सड़क सीमेंट से भरा ट्रक खराब हो गया। ट्रक सड़क बीच खड़ा हो जाने के कारण यातायात जाम की स्थिति बनती रही। जिस कारण आम लोगों व वाहन चालकों को परेशानी झेलनी पड़ी।

Rajesh Kumar SharmaMon, 26 Jul 2021 01:54 PM (IST)
धर्मशाला कचहरी मार्ग में बीच सड़क सीमेंट से भरा ट्रक खराब हो गया।

धर्मशाला, जागरण संवाददाता। Kachahri Chowk Dharamshala, धर्मशाला कचहरी मार्ग में बीच सड़क सीमेंट से भरा ट्रक खराब हो गया। ट्रक सड़क बीच खड़ा हो जाने के कारण यातायात जाम की स्थिति बनती रही। जिस कारण आम लोगों व वाहन चालकों को परेशानी झेलनी पड़ी। ऐसे में यहां पर यातायात पुलिस ने मोर्चा संभाला और यातायात को व्यवस्थित किया। यहां पर एक ट्रैफिक कर्मी की ड्यूटी भी लगाई गई, ताकि यातायात जाम की स्थिति गंभीर न हो जाए। यातायात पुलिस कर्मी की तैनाती से ट्रैफिक जाम की गंभीर होती स्थिति से कुछ राहत मिली।

ट्रक पर लोड ज्यादा होने के कारण जीप मंगवाकर ट्रक से कुछ सीमेंट की बोरियां निकाल कर शिफ्ट की गईं। ट्रक को ठीक करने के लिए मैकेनिक को बुलाया गया है, ताकि समय पर ट्रक ठीक हो सके। लेकिन इसमें ज्यादा समय लग रहा है। ट्रक केसीसी बैंक के बिल्कुल सामने खराब हुआ है। यहां पर हलका सा मोड व चौराहा भी है, इस कारण वाहनों की आवाजाही अधिक रहती है। इस कारण पुलिस कर्मी को यातायात सुचारू रखने में काफी मशक्‍कत करनी पड़ रही है।

वहीं, यातायात पुलिस में तैनात कर्मी ने बताया यातायात जाम न लगे, इसके लिए यहां पर ट्रैफिक को सुचारू करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा ट्रक में फाल्ट आ जाने के कारण ट्रक चढ़ाई पर ही बंद हो गया है। इसमें आई खराबी को ठीक करने के लिए मैकेनिक को बुलाया गया है। जल्द ही ट्रक को दुरुस्‍त कर यहां से हटाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Kinnaur Landslide: पर्यटकों के शव दिल्‍ली में हिमाचल भवन भेजे, नेवी का अधिकारी भी हादसे का शिकार

खादवी गांव में भूस्खलन का खतरा बरकरार

कुल्लू। जिला कुल्लू के आनी उपमंडल के बुच्छैर पंचायत के खादवी गांव बादल फटने के बाद भी बारिश होने से ग्रामीण डर के साये में जी रह हैं। लगातार बारिश होने से गांव में फिर से भूस्खलन का खतरा मंडराने लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि बारिश से खेतों के धंसते का डर है। प्राकृतिक आपदा से मकान और डंगा गिरने से सात लाख रुपये का नुकसान हुआ है। सेब के पौधों और जमीन को हुए नुकसान का अभी तक आकलन नहीं किया गया है। प्रभावित ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें मजबूरी में दूसरों के घर में शरण लेनी पड़ गई है। खादवी गांव में सात घरों को नुकसान हुआ है जबकि 19 लोगों के जमीन और पेड़ पौधों बादल फटने से तबाह हुए हैं। उन्हें डर है कि अब अगर बारिश हुई तो भूस्खलन कहर बरपा सकता है। ग्रामीणों ने गुहार लगाई कि उद्यान विभाग की टीम को भी जल्द नुकसान का आकलन करना चाहिए ताकि उन्हें सही मुआवजा मिले। उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने बताया कि आनी के बुच्छैर पंचायत के खादवी और तराला में भूस्खलन से हुए नुक्सान की रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। प्रशासन की ओर से प्रभावित परिवारों को हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.