Atal Tunnel Rohtang: पीएम के दौरे की तैयारियों का जायजा लेने कल लाहुल जाएंगे सीएम, ये नेता भी पहुंचेंगे

मुख्‍यमंत्री कल अटल टनल के उद्घाटन की तैयारियों का जायजा लेने लाहुल जाएंगे।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 09:14 AM (IST) Author: Rajesh Sharma

शिमला, जेएनएन। अटल टनल रोहतांग के प्रस्तावित उद्घाटन समारोह के दृष्टिगत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर 23 सितंबर को एकदिवसीय केलंग दौरे पर जाएंगे। सुरक्षा व्यवस्था की तैयारियों का जायजा लेंगे। अधिकारियों के साथ चर्चा करेंगे। मौसम की विपरीत परिस्थितियों को देखते हुए इस क्षेत्र के तीन हेलीपैड तांदी, गोंदला व सिस्सू का निरीक्षण भी कर सकते हैं। मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर सतींगरी उतरेगा। 10 साल में बनी अटल टनल रोहतांग उद्घाटन के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री तीन अक्टूबर को इसे देश को समर्पित करेंगे।

इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के भी मनाली पहुंचने की संभावना है। प्रधानमंत्री के प्रस्तावित दौरे को लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से राजभवन में मुलाकात की। नरेंद्र मोदी के दौरे के मद्देनजर कुल्लू व लाहुल-स्पीति जिला प्रशासन को तैयार रहने को कहा गया है।

अटल टनल रोहतांग पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का ड्रीम प्रोजेक्ट था। 2000 में उन्होंने सामरिक महत्व की इस सुरंग के निर्माण के लिए सोचा था। 2010 में इसका निर्माण कार्य प्रारंभ हुआ। करीब 3500 करोड़ की रकम खर्च हुई है। सुरंग करीब नौ किलोमीटर लंबी है। चीन सीमा तक सेना को पहुंचने में मदद मिलेगी। लाहुल-स्पीति व लेह लद्दाख में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

तीन अन्य सुरंगें भी प्रस्तावित

रोहतांग के अलावा सामरिक महत्व के मनाली-लेह हाईवे पर बारालाचा दर्रा को काटकर 13.2, लाचुंगला में 14.78, तांगलांग लॉ में 7.32 किलोमीटर लंबी सुरंग का निर्माण प्रस्तावित है। इसके अलावा मनाली से लेह के लिए एक सड़क का काम भी जारी है। प्रस्तावित सुरंगों व सड़क का निर्माण कार्य पूरा होने पर सेना को चीन व पाकिस्तान के साथ लगती सीमाओं पर किसी भी आपात स्थिति में रसद पहुंचाना आसान होगा।

मार्कंडेय मौके पर तैयारियों में जुटे : सीएम

मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अटल टनल रोहतांग के प्रस्तावित उद्घाटन समारोह की तैयारी में तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय जुट गए हैं। यह सुरंग न केवल सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि इससे प्रदेश में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.