Atal Tunnel Rohtang बनी पर्यटकों की पहली पसंद, नवंबर में रिकार्ड वाहन हुए आर पार, जानिए

Atal Tunnel Rohtang अटल टनल सैलानियों की पहली पसंद बनती जा रही है। हर महीने अटल टनल आर पार करने वाले वाहनों की आमद में बढ़ोतरी हो रही है। इस साल नवंबर महीने में 102 920 वाहन आर पार हुए हैं। इनमें अधिकतर पर्यटक वाहन ही हैं

Rajesh Kumar SharmaTue, 07 Dec 2021 10:32 AM (IST)
अटल टनल सैलानियों की पहली पसंद बनती जा रही है।

मनाली, जसवंत ठाकुर। Atal Tunnel Rohtang, अटल टनल सैलानियों की पहली पसंद बनती जा रही है। हर महीने अटल टनल आर पार करने वाले वाहनों की आमद में बढ़ोतरी हो रही है। इस साल नवंबर महीने में 1,02, 920 वाहन आर पार हुए हैं। इनमें अधिकतर पर्यटक वाहन ही हैं, जो कोकसर और सिस्सु में बर्फ के दीदार के लिए पहुंचे। पिछले साल नवंबर महीने में वाहनों का आंकड़ा 38,496 था, जबकि इस साल नवंबर में यह आंकड़ा एक लाख को पार कर गया। अटल टनल के बनने के बाद लाहुल सैलानियों की पसंदीदा सैरगाह बन गया है।

पुलिस की माने तो नवंबर माह में कोई दुर्घटना नहीं हुई है। इसके लिए Atal Tunnel Rohtang अटल टनल रोहतांग (एटीआर) नार्थ पोर्टल यूनिट इंचार्ज असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर (एएसआइ) धीरज सेन और संपूर्ण उत्तर पोर्टल इकाई के समर्पित प्रयासों और अटूट प्रतिबद्धता का एक विशेष योगदान रहा है। पूरी यूनिट में तीसरी भारतीय रिजर्व बटालियन पंडोह के कर्मी शामिल हैं। एटीआर नार्थ पोर्टल यूनिट ने यह सुनिश्चित किया है कि हर यात्री और पर्यटक को सुरक्षित ड्राइविंग स्थितियों के बारे में सूचित किया जाए। साथ ही यह सुनिश्चित किया कि सभी वाहन यातायात सुरक्षित मनाली को लौट जाएं।

गर्मियों में तो सेवाएं देना कष्टदायक नहीं है। लेकिन सर्दियों में सेवाएं आसान नहीं है। पुलिस के अनुसार चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में और न्यूनतम माइनस 10 डिग्री तापमान में सुरंग की सुरक्षा का भी दायित्व भी नॉर्थ पोर्टल यूनिट के पास है।

एसपी लाहुल स्पीति मानव वर्मा ने बताया इस साल नवंबर महीने में 1,02,920 वाहन अटल टनल के आर पार हुए हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस जवानों की सतर्कता के बाद अटल टनल में दुर्घटनाएं कम हुई हैं। उन्होंने कहा लाहुल स्पीति पुलिस के जवान आगामी शीतकालीन पर्यटन सीजन में जिले का दौरा करने वाले पर्यटकों के लिए सुरक्षित, सुगम और सुखद अनुभव सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

क्‍याें है पर्यटकों की पसंद

अटल टनल रोहतांग का जून 2010 में शिलान्यास हुआ था और तीन अक्टूबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका उद्घाटन किया। दस हजार फीट से ज्‍यादा ऊंचाई पर यह दुनिया की सबसे लंबी 9.2 किलोमीटर टनल है। अटल टनल का छोर मनाली की तरफ से सुहानी वादियों से शुरू होता है और दूसरा छोर लाहुल स्‍पीति में निकलता है। बर्फ से ढकी यह वादियां पर्यटकों को खूब भाती हैं।

यह भी पढ़ें: Atal Tunnel Rohtang: अटल टनल रोहतांग से एक दिन में आर-पार हुए रिकार्ड 6419 वाहन

सीमित है रफ्तार

अटल टनल को 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की गति के साथ प्रतिदिन 3000 कारों और 1500 ट्रकों के यातायात घनत्‍व के लिए डिजाइन किया गया है। यह टनल सेमी ट्रांसवर्स वेंटिलेशन सिस्टम, एससीएडीए नियंत्रित अग्निशमन, रोशनी और निगरानी प्रणाली सहित अति-आधुनिक इलेक्‍ट्रो-मैकेनिकल प्रणाली से लैस है।

अटल टनल की कुछ प्रमुख विशेषताएं

दोनों पोर्टल पर टनल प्रवेश बैरियर आपातकालीन कम्युनिकेशन के लिए प्रत्येक 150 मीटर दूरी पर टेलीफोन कनेक्शन प्रत्येक 60 मीटर दूरी पर फायर हाइड्रेंट सिस्टम प्रत्येक 250 मीटर दूरी पर सीसीटीवी कैमरों से युक्‍त स्‍वत: किसी घटना का पता लगाने वाला सिस्टम प्रत्येक किलोमीटर दूरी पर एयर क्वालिटी गुणवत्ता निगरानी प्रत्येक 25 मीटर पर निकासी प्रकाश/निकासी इंडिकेटर पूरी टनल में प्रसारण प्रणाली प्रत्‍येक 50 मीटर दूरी पर फायर रेटिड डैम्पर्स प्रत्येक 60 मीटर दूरी पर कैमरे

यह भी पढ़ें: Atal Tunnel Accident: अटल टनल रोहतांग में सफर से पहले जान लें नियम वरना भरना पड़ेगा भारी जुर्माना

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.