आल इंडिया एड्स कंट्रोल एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने मांगों को लेकर किया प्रदर्शन, पहली दिसंबर को मनाया काला दिवस के रूप में

आल इंडिया एड्स कंट्रोल एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन के चेयरमैन संजीव मिश्रा प्रधान विनोद शर्मा उपाध्यक्ष अवदेश सक्सेना महासचिव महावीर एसवाल ने जारी बयान में कहा है कि भारतवर्ष एड्स नियंत्रण संविदा कर्मी अप्रैल 2020 से अपने मूल कार्यों के अतिरिक्त कोविट-19 के लिए कार्य कर रहे हैं।

Richa RanaWed, 01 Dec 2021 03:22 PM (IST)
आल इंडिया एड्स कंट्रोल एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने मांगों को लेकर किया प्रदर्शन।

धर्मशाला, जागरण संवाददाता। आल इंडिया एड्स कंट्रोल एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन के चेयरमैन संजीव मिश्रा, प्रधान विनोद शर्मा, उपाध्यक्ष अवदेश सक्सेना, महासचिव महावीर एसवाल ने जारी बयान में कहा है कि भारतवर्ष एड्स नियंत्रण संविदा कर्मी अप्रैल 2020 से अपने मूल कार्यों के अतिरिक्त कोविट-19 के लिए कार्य कर रहे हैं। जिस कारण सैकड़ो कर्मी संक्रमित हो चुके है और चार-पांच कर्मियों की मृत्यु हो चुकी है। एसोसिएशन वर्ष 2017 से वेतन पुन निरीक्षण की मांग कर रही है।

एक नवंबर 2019 को नाको अधिकारियों के साथ हुई बैठक में आश्वस्त किया गया था कि वर्तमान एनएसीपी-04 परिवर्तित होने अथवा आगे विस्तार किए जाने, दोनों परिस्थितियों में एड्स नियंत्रण संविदा कर्मियों का मानदेय पुनरीक्षण किया जाएगा, लेकिन अप्रैल 2020 से सिर्फ एक काटर के संविदा कर्मियों का ही मानदेय पुनरीक्षित किया गया है। बाकी अन्य संविदा कर्मियों के साथ भेदभाव किया गया है। इससे पूर्व तीन अक्टूबर 2013 को मानदेय पुनिरीक्षण किया गया था। कई बार निवेदन करने के बाद भी मानदेय पुनरीक्षण न किए जाने से संपूर्ण भारतवर्ष के एड्स नियंत्रण संविदा कर्मियों द्वारा आल इंडिया एड्स कंट्रोल एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन के तत्वाधान में राज्य संगठनों के समर्थन से संपूर्ण भारतवर्ष में दो अगस्त 2021 से चरणबद्ध आंदोलन किया जा रहा है।

इसी क्रम में आज पहली दिसंबर को विश्व एड्स दिवस के अवसर पर भारतवर्ष के विभिन्न राज्यों से आये सैकड़ो एडस नियंत्रण संविदा कर्मियों द्वारा मानदेय पुन निरीक्षण किए जाने के विरोध में जंतर मंतर निर्माण भवन, नाको मुख्यालय एवं आंबेडकर राष्ट्रीय केंद्र नई दिल्ली में धरना व विरोध प्रदर्शन किया। जिसमें मनसुख मंटाविया केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री भारती पटेल, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री व आलाककरणा महानिदेशक नाको को ज्ञापन दिया गया।

एसोसिएशन के अध्यक्ष विनोद शर्मा ने कहा कि यदि शीघ्र ही नाको द्वारा अपेक्षित मानदेय पुनरीक्षण नहीं किया जाता है तो भारत भर में आंदोलनरत एड्स नियंत्रण संविदधा कर्मी जनवरी 2022 से संपूर्ण भारत में निश्चित प्रदर्शन धरना प्रदर्शन व भूख हड़ातल करेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.