कांगड़ा में प्रशासन ने तीन जगहों पर अपनी निगरानी में करवाया अंतिम संस्कार, ताकि फिर ना घटे भंगवार जैसी घटना

कांगड़ा में प्रशासन ने तीन स्‍थानों पर अपनी निगरानी में अंतिम संस्‍कार करवाया है।

भंगवार में कंधे पर मृत की पार्थिव देह की घटना से सबक लेते हुए जिला प्रशासन के दिशानिर्देशों के अनुसार स्थानीय प्रशासन ने कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के बाद मृतकों के अपनी उपस्थिति में अंतिम संस्कार की मुहिम छेड़ दी है।

Richa RanaSat, 15 May 2021 05:01 PM (IST)

ज्वालामुखी, कांगड़ा, जयसिंहपुर। जिला कांगड़ा के भंगवार में कंधे पर मृत की पार्थिव देह की घटना से सबक लेते हुए जिला प्रशासन के दिशानिर्देशों के अनुसार स्थानीय प्रशासन ने कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के बाद मृतकों के अपनी उपस्थिति में अंतिम संस्कार की मुहिम छेड़ दी है।

कहीं पर मृतकों के अपने ही साथ भी छोड़ रहे हैं। लेकिन अब प्रशासन ने मृतकों के अंतिम संस्कार का जिम्मा भी संभाला है। शनिवार को भी तीन जगहों पर प्रशासन की देखरेख में पूरी सहयता के साथ मृतकों का अंतिम संस्कार भी करवाया गया।

ज्वालामुखी के भगेहड़ में 50 वर्षीय कोरोना संक्रमित महिला सुदेश डोगरा की मृत्यु के तुरंत बाद प्रशासन न केवल मौके पर पहुंचा बल्कि अंतिम संस्कार भी करवाया। कोरोना संक्रमण इस महिला ने शनिवार को दम तोड़ दिया। पंचायत प्रधान ने सुबह ही प्रशासन को इस बारे जानकारी दी कि पंचायत में एक कोरोना संक्रमित की मौत हुई है।

एसडीएम को जानकारी देने के बाद ठीक पांच मिनट के भीतर ही तहसीलदार जवालामुखी ने पंचायत संपर्क किया और वहां पहुंचने की जानकारी भी उन्हें दी। प्रशासन द्वारा पार्थिव देह को उठाने के लिए जरूरी चार पीपीई किट परिवार को मुहैया करवाई। परिवार के एक सदस्य सहित गांव के तीन अन्य युवाओं ने महिला को कंधा देकर मोक्ष धाम पहुंचाया व उनका विधि पूर्वक अंतिम संस्कार करवाया।

प्रधान ग्राम पंचायत जखोटा  सुमित राणा ने प्रशासन के आदेशों के अनुरूप सुबह ही प्रशासन को मृतक की सूचना दे दी थी। प्रशासन ने पूरा सहयोग करते हुए अपनी उपस्थित में महिला का संस्कार करवाया। तहसीलदार जवालामुखी दीनानाथ तथा पटवारी विकास खट्टा समस्त औपचारिकताएं पूरी होने तक मौके पर मौजूद रहे।

अंतिम संस्कार में तहसीलदार रहे मौजूद

विकास खंड लंबागांव की बीजापुर पंचायत के कोटली गांव की कारोना पीडित महिला की शुक्रवार रात को सात बजे के करीब मौत हो गई। मृतका की पहचान प्रकाशा देवी उम्र 38 साल पत्नी जगदीश चंद गांव कोटली डाकघर वीजापुर के रुप में हुई है। महिला का एक लडका व एक लड़की है। एलड़का घर पर ही रहता है व लड़की की शादी हो गई है ।महिला का पति पेशे से मिस्त्री का काम करता है।शनिवार को तहसीलदार जयसिंहपुर पीसी आजाद की देखरेख में पंचायत प्रधान प्रीतम चंद, उप प्रधान सौरभ कटोच व ग्रामीणों द्वारा महिला का अंतिम संस्कार करवाया गया ।

 

कांगड़ा वॉलंटियर टीम द्वारा किया गया अंतिम संस्कार, तहसीलदार रहे उपस्थित

 रानीताल की रहने वाली महिला की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो गई । परंतु महिला के अंतिम संस्कार के लिए परिजन कोई आगे नहीं आये जिसकी जानकारी कांगड़ा उपमंडलाधिकारी अभिषेक वर्मा को मिली । उन्होने एमसी कांगड़ा के वालंटियर की टीम द्वारा एक महिला का अंतिम संस्कार करवाया। इस दौरान कांगड़ा के तहसीलदार मौके पर मौजूद रहे।

अभिषेक वर्मा ने बताया कि जैसे ही प्रशासन को इस मामले की सूचना मिली। उन्होंने तुरंत कार्यवाही करते हुए अपनी वॉङ्क्षलटियर की टीम को तहसीलदार की देखरेख में घटनास्थल पर भेजा और उस महिला अंतिम संस्कार करवाया। उन्होंने कहा लोगों का इस तरह का व्यवहार अमानवीय है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.