धनेटा कालेज के 316 विद्यार्थियों ने बिना प्राध्यापक पास की परीक्षा

गुरु के बिना ज्ञान हासिल नहीं किया जा सकता है लेकिन जब कोई गुरु ही न हो तो परीक्षा पास करना भी मजबूरी बन जाती है। जिला हमीरपुर के धनेटा महाविद्यालय के 316 विद्यार्थियों ने गुरु के बिना ही इम्तिहान पास कर लिया।

Virender KumarSun, 05 Dec 2021 05:41 PM (IST)
धनेटा कालेज के 316 विद्यार्थियों ने बिना प्राध्यापक पास की परीक्षा। जागरण

धनेटा, राजकुमार शर्मा।

गुरु के बिना ज्ञान हासिल नहीं किया जा सकता है, लेकिन जब कोई गुरु ही न हो तो परीक्षा पास करना भी मजबूरी बन जाती है। जिला हमीरपुर के धनेटा महाविद्यालय के 316 विद्यार्थियों ने गुरु के बिना ही इम्तिहान पास कर लिया। इसे इनकी मजबूरी समझें या सरकार की मजबूरी कि यहां दो साल से अंग्रेजी विषय का कोई प्राध्यापक ही नहीं है। सरकारी उपेक्षा का दंश भविष्य की पीढ़ी को झेलना पड़ रहा है।

राजकीय महाविद्यालय धनेटा में अभी कला व वाणिज्य संकाय की ही कक्षाएं चल रही हैैं। कांग्रेस शासन के दौरान 2016 में एक स्कूल के भवन से इस कालेज की शुरुआत हुई थी। इससे पहले यहां निजी क्षेत्र का जनरल जोरावर सिंह कालेज था, जिसका दिसंबर 2018 में अधिग्रहण किया गया था। इसी कालेज में सरकारी कालेज को मर्ज कर दिया था। वर्तमान में यहां कला संकाय के प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष में 205 विद्यार्थी हैैं। जबकि वाणिज्य संकाय में 111 विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैैं।

नाम न छापने की शर्त पर कुछ विद्यार्थियों ने कहा कि कोविड के कारण जब आनलाइन कक्षाएं चल रही थीं तो अन्य विषय के शिक्षक इधर-उधर से नोट्स भेज देते थे, लेकिन जबसे कक्षाएं आफलाइन शुरू हुई हैैं उस समय से लेकर अभी तक इस विषय का कोई प्राध्यापक नहीं आया है। अब तीन माह बाद यहां से फाइनल में पासआउट होने वाले विद्यार्थियों को चिंता सता रही है कि उनके भविष्य का क्या होगा।

इतिहास विषय के प्रवक्ता का पद भी एक साल से खाली

धनेटा महाविद्यालय में कई पद खाली हैैं। एक वर्ष से इतिहास विषय के प्रवक्ता का पद भी रिक्त है। संगीत विषय की पोस्ट होने के बावजूद प्रवक्ता नहीं है। गैर शिक्षकों के भी कई पद खाली हैैं। महाविद्यालय में सुपरीटेंडेंट, सीनियर असिस्टेंट, चपरासी के पद खाली हैैं। इस वजह से गैर शैक्षणिक गतिविधियां भी अन्य प्रवक्ताओं के जिम्मे हैैं।

स्टाफ कमी की समस्या से अधिकारियों को कई बार अवगत करवाया है। अभी तक समस्या का समाधान नहीं हो पाया है जिस कारण कालेज में पढऩे वाले बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। विभाग के अधिकारियों से फिर आग्रह किया जाएगा।

-अश्विनी कुमार शर्मा, प्राचार्य धनेटा महाविद्यालय।

कालेज में लंबे समय से शिक्षक व गैर शिक्षक स्टाफ की कमी है। कालेज प्रबंधन से कई बार बात कि लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है। इस विषय में जल्दी ही वह पूरी कमेटी के साथ बैठक कर निर्णय लिया जाएगा। एचआरटीसी के उपाध्यक्ष विजय अग्निहोत्री व उच्च अधिकारियों से भी मिलेंगे।

-बृज किशोर शर्मा, धनेटा महाविद्यालय की एसएमसी अध्यक्ष।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.