छात्रा से छेड़छाड़ के दोषी को साढे़ तीन साल की जेल

धर्मशाला, जेएनएन। पुलिस थाना इंदौरा के तहत एक गांव की स्कूली छात्रा से छेड़छाड़ और अश्लील हरकतें करने के दोषी को विशेष जज पुरेंद्र वैद्य की अदालत ने साढ़े तीन साल के कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा 10 हजार रुपये का जुर्माना भी किया है। जुर्माना न भरने पर दोषी को छह माह की अतिरिक्त सजा काटनी होगी। जिला न्यायवादी राजेश वर्मा ने बताया कि अभियोजन पक्ष की ओर से मामले की पैरवी जिला उप न्यायवादी एलएम शर्मा ने की।

पुलिस थाना इंदौरा में 20 मई, 2013 को नाबालिगा ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि वह इसी दिन सुबह सात बजे घर से स्कूल के लिए निकली थी तो रास्ते में एक सुनसान गली में दोषी बलकार उर्फ भतली मोटरसाइकिल से नीचे उतरा और उसका हाथ पकड़कर ठेके की ओर खींच कर ले गया। शिकायत के अनुसार इसके बाद दोषी अश्लील हरकतें करने लगा। पीड़िता के शोर मचाने पर दोषी वहां से गालिया देते हुए भाग गया था। इसके बाद पीड़िता ने परिजनों को साथ लेकर पुलिस थाना इंदौरा में शिकायत दर्ज करवाई थी। पुलिस जांच के बाद विशेष जज पुरेंद्र वैद्य की विशेष अदालत में पहुंचे केस में अभियोजन पक्ष की ओर से 10 गवाह पेश किए गए। गवाहों के बयानों के आधार पर आरोपित के खिलाफ दोष सिद्ध होने पर बलकार सिंह को साढ़े तीन साल के कैद की सजा सुनाई है। इसके अलावा 10 हजार रुपये का जुर्माना भी किया है। .

चलती बस से गिरकर व्यक्ति घायल, टांडा रेफर

एचआरटीसी की बस से खब्बल के समीप मंगलवार को एक व्यक्ति गिरकर घायल हो गया। सीएचसी नगरोटा सूरियां में प्राथमिक उपचार के बाद उसे डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टाडा रेफर कर दिया है। घायल व्यक्ति की पहचान अनिल कुमार पुत्र बलदेव निवासी लुदरेट के रूप हुई है। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है। पत्नी का कहना है कि नंदपुर से देहरा वाया नगरोटा सूरिया चलने वाली एचआरटीसी की बस में अनिल कुमार सुबह 11 बजे लुदरेट में देहरा जाने के लिए बैठा। भीड़ होने के कारण वह बस के पिछले दरवाजे के पास ही खड़ा था।

खब्बल गांव के पास पहुंचने पर एक बुजुर्ग की लाठी हाथ से छूट गई। अनिल जैसे ही उसे उठाने लगा तो बस का दरवाजा अचानक खुल गया और वह चलती गाड़ी से बाहर गिर गया। हादसे में अनिल कुमार को सिर पर गंभीर चोटें लगी हैं। घायल को टांडा ले जाने के लिए एंबुलेंस भी मुहैया नहीं हो पाई। सीएचसी नगरोटा सूरिया में खड़ी 108 एंबुलेंस पिछले छह माह से खराब है। घायल के परिजनों को टैक्सी करटाडा अस्पताल जाना पड़ा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.